Published on 2016-12-15
img

हरिद्वार १५ दिसंबर। गायत्री तीर्थ शांतिकुंज द्वारा चलाये जा रहे युवा जागरण अभियान के अंतर्गत गुजरात प्रांत के युवाओं का पाँच दिवसीय भविष्य निर्माता प्रशिक्षण शिविर का आज समापन हो गया। इस शिविर में कुल २४ सत्र हुए, जिसमें युवा जोड़ो अभियान, स्वावलंबी, बाल संस्कार शाला जैसी रचनात्मक गतिविधियों का सैद्धांतिक प्रशिक्षण दिया गया, वहीं कुरीति, भ्रष्टाचार, बेकारी, अशिक्षा आदि को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए युवाओं को प्रेरित किया गया। 
शिविर के समापन सत्र को संबोधित करते शांतिकुंज के वरिष्ठ कार्यकर्ता पं. शिवप्रसाद मिश्र ने कहा कि किसी भी समाज या देश की रीड़ युवा वर्ग को माना जाता है। समाज व देश को बनाने एवं ऊँचा उठाने में युवाओं की विशेष भूमिका होती है। उन्होंने कहा कि दुनिया भर में भारत सबसे युवाओं वाला देश है। 
इससे पूर्व देवसंस्कृति विवि के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्याजी ने कहा कि मनुष्य में साहस, संयम जैसे कई सद्गुण विद्यमान रहते है। उनको सहारे अपनी आंतरिक  विभूतियों को विकसित कर सकता है। बाल्यकाल से यदि सही दिशा में मेहनत करना प्रारंभ दे, तो युवावस्था में बहुत कुछ प्राप्त कर सकता है। दूसरों की सेवा, सहयोग कर पुण्य कमा सकता है। प्रतिकुलपति डॉ. पण्ड्याजी ने कहा कि युवा वेला में अपने विचारों में सकारात्मक दिशा देने की पहल करने चाहिए। उन्होंने कहा कि इस विषम वेला में ईश्वर के प्रति सच्ची श्रद्धा, आत्म विश्वास एवं भगवान पर भरोसा लिए अपने नागरिक कर्तव्य को निभाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सद्गुणों के साथ ईमानदारी को अपनाने से ही भविष्य उज्ज्वल हो सकता है। 
शिविर समन्वयक व युवा प्रकोष्ठ प्रभारी श्री केदार प्रसाद दुबे ने बताया कि इस प्रशिक्षण शिविर में गुजरात प्रांत के ३५ जिलों के चार सौ से अधिक चयनित युवाओं ने भागीदारी की। जिन्हें बौद्धिक व सामाजिक गतिविधियों के सैद्धांतिक व प्रायोगिक प्रशिक्षण दिये गये। गंगा तट पर सामूहिक ध्यान के माध्यम से मन को एकाग्र करने की  विधि सिखाई गयी, तो वहीं समूह चर्चा के अंतर्गत कार्यक्रमों के संचालन में आने वाली संभावित समस्याओं के निराकरण के सूत्र बताये गये। मोडासा गुजरात से आये किरीट भाई व हरीश भाई कंसारा ने बताया कि शिविर के माध्यम से युवाओं को सकारात्मक दिशा मिली, जिससे वे अपने- अपने क्षेत्र में नशा निवारण सहित विभिन्न कुरीतियों के निवारण के लिए पहल कर सकेंगे। इस अवसर पर शांतिकुंज के अंतेवासी व गुजरात प्रांत से आये युवा उपस्थित रहे।


Write Your Comments Here:


img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....

img

संस्कारित युवा पीढ़ी के निर्माण से होगा राष्ट्र निर्माण: नीलिमा

अखिल विश्व गायत्री परिवार के तत्वावधान में स्थानीय रामकृष्ण आश्रम परिसर में जिला युवा प्रकोष्ठ द्वारा 5 दिवसीय युवा व्यक्तित्व निर्माण शिविर का आयोजन किया गया है | जहाँ शिविरार्थी योग, आसान, ध्यान  समेत आध्यात्मिक और बौद्धिक ज्ञान प्राप्त कर.....

img

नेपाल में आयोजित अंतरराष्ट्रीय विश्व युवा सम्मेलन में गायत्री परिवार का प्रतिनिधित्व

Nepal 8/8/17:-अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस के उपलक्ष्य में नेपाल में आयोजित अंतरराष्ट्रीय विश्व युवा सम्मेलन में भारत देश की तरफ से अखिल विश्व गायत्री परिवार के (DIYA TEAM)  के सदस्य श्री पी डी सारस्वत व श्री अनुज कुमार वर्मा सम्मेलन में.....