Published on 2016-12-04

माँ भगवती एजूकेशनल इन्स्टीट्यूट
लखनऊ (उत्तर प्रदेश)

गायत्री ज्ञान मन्दिर, लखनऊ के अथक प्रयासों से शिक्षण संस्थानों में परम पूज्य गुरुदेव के विचारों की प्रतिष्ठा का अभियान जोरशोर से जारी है। २५० से ज्यादा पुस्तकालयों में संपूर्ण वाङ्मय के सेट स्थापित कर चुके इस प्रज्ञा संस्थान ने हाल ही में माँ भगवती एजूकेशनल इन्स्टीट्यूट, सतरिख, लखनऊ के पुस्तकालय में समग्र वाङ्मय की स्थापना करवायी। यह साहित्य श्रीमती निर्मला श्रीवास्तव एवं श्री केके श्रीवास्तव के सौजन्य से स्थापित किया गया।

यह स्थापना गायत्री तपोभूमि, मथुरा के प्रतिनिधि श्री आईएस पाण्डेय द्वारा की गयी। उन्होंने छात्र- छात्राओं से कहा कि यह साहित्य आपको नैतिक रूप से समृद्ध बनायेगा।

सुभाष चन्द्र बोस इन्स्टीट्यूट ऑफ हायर एजूकेशन
सुभाष चन्द्र बोस इन्स्टीट्यूट ऑफ हायर एजूकेशन लखनऊ के पुस्तकालय में समग्र वांङ्मय साहित्य स्थापित किया गया। यह साहित्य श्री अनिल कुमार सक्सेना व श्रीमती प्रमिला सक्सेना ने अपने माता- पिता स्व. कमला सक्सेना, स्व. प्रकाश बहादुर सक्सेना की स्मृति में संस्थान को भेंट किया।

डॉ. नरेन्द्र देव ने सभी छात्र- छात्राओं व संकाय सदस्य को गायत्री ज्ञान मन्दिर की ओर से युग निर्माण पत्रिका भेंट की। गायत्री ज्ञान मंदिर के व्यवस्थापक श्री उमानन्द शर्मा ने दोनों ही अवसरों पर युग साहित्य की विशेषताओं पर प्रकाश डाला।


Write Your Comments Here:


img

शराब से पीड़ित जनमानस की आवाज बनकर उभरा है गायत्री परिवार का प्रादेशिक युवा संगठन

शराबमुक्त स्वर्णिम मध्य प्रदेश

अखिल विश्व गायत्री परिवार की मध्य प्रदेश इकाई ने सितम्बर माह से अपने राज्य को शराबमुक्त करने के लिए एक संगठित, सुनियोजित अभियान चलाया है। इस महाभियान में केवल गायत्री परिवार ही नहीं, तमाम सामाजिक, स्वयंसेवी संगठनों.....

img

ग्राम तीर्थ जागरण यात्रा

चलो गाँव की  ओर ०२ से ०८ अक्टूबर २०१७हर शक्तिपीठ/प्रज्ञापीठ/मण्डल से जुडे कार्यकर्त्ता अपने- अपने कार्यक्षेत्र (मण्डल) के ग्रामों की यात्रा पर निकलेंसंस्कारयुक्त, व्यसनमुक्त, स्वच्छ, स्वस्थ, स्वावलम्बी, शिक्षित एवं सहयोग से से भरे- पूरे ग्राम बनाने के लिये अभियान चलायेंएक.....