Published on 2017-01-12

हरिद्वार १२ जनवरी। राष्ट्रीय युवा दिवस (स्वामी विवेकानंद की जयंती) को शांतिकुंज व देवसंस्कृति विश्वविद्यालय परिवार युवा चेतना दिवस के रूप में मनाया। इस अवसर पर गायत्री परिवार के मुख्यालय के नेतृत्व में देशभर के ४०० जिलों में तीन हजार से अधिक स्थानों पर मशाल यात्रा निकाली गयी। वहीं देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के मृत्युंजयसभागार में आयोजित युवा चेतना दिवस समारोह के अवसर पर उपस्थित सैकड़ों युवाओं ने स्वामी विवेकानंद जी के आदर्शों को अपनाने का संकल्प लिया।
इस अवसर पर कार्यक्रम के अध्यक्ष अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने कहा कि स्वामी विवेकानंद जी चरित्र बल के धनी थे। वे जो कहते थे, उसे जीवन में समर्पण व पारदर्शिता के साथ अपनाते रहे। यही कारण था कि उन्होंने बड़े से बड़ा कार्य सम्पन्न कर पाये। देसंविवि के कुलाधिपति डॉ. पण्ड्याजी ने कहा कि स्वामी जी के विचारों को आत्मसात करने से स्वयं भी ऊँचा उठेंगे और दूसरों का भी मार्ग प्रशस्त कर पायेंगे। आज ऐसे प्रतिभावान व कर्मठ युवाओं की जरूरत है, जो निःस्वार्थ भाव से राष्ट्र के विकास के लिए कार्य कर सकें।
गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. पण्ड्याजी ने कहा कि युवा क्रांति वर्ष २०१७ में चार वीडियो रथ निकाले जायेंगे, जो पूरे देश में परिव्रज्या करेंगे। साथ ही इसके माध्यम से युवाओं के लिए विविध कार्यक्रमों का संचालन होगा। यह चारों रथ जनवरी २०१८ में नागपुर (महाराष्ट्र) में एकत्रित होंगे, जहाँ विराट युवा सम्मेलन का आयोजन निर्धारित है। कुलपति श्री शरद पारधी ने कहा कि स्वामी जी धर्म, शिक्षा एवं दर्शनशास्त्र के प्रतिमूर्ति थे। प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या ने कहा कि युवावस्था जीवन को सुधारने का सुनहरा अवसर है। उन्होंने कहा कि लोगों में प्रेम, सहकार, सेवा व सहयोग का बीज बोते हुए स्वयं बनने और बनाने का नाम है युवा। युवाओं को खिलाड़ियों की भाँति हार- जीत से दूर रहते हुए अपने आदर्शों के साथ जीवन जीना चाहिए। उन्होंने विभिन्न उदाहरणों के माध्यम से युवाओं को तनाव से दूर रहते हुए विकसित हो रहे राष्ट्र में सहभागिता करने का आवाहन किया।
इससे पूर्व कार्यक्रम का शुभारंभ कुलाधिपति डॉ. पण्ड्याजी ने दीप प्रज्वलन व स्वामी के चित्रों पर माल्यार्पण कर किया। पश्चात् डॉ. शिवनारायण प्रसाद एवं टीम नेविवेकानंदजी के प्रिय भजन ‘चलो मन जायेंगे घर अपना...’ का सुमधुर गान से उपस्थित जनों को रोमांचित कर दिया। इस अवसर पर युवाओं ने युग निर्माण सत्संकल्प का पाठकर सत्कर्म व सद्भावना को विकसित करने का संकल्प लिया। कार्यक्रम का संचालन युवा प्रकोष्ठ प्रभारी श्री केदार प्रसाद दुबे ने किया। इस अवसर पर शांतिकुंज व देसंविवि परिवार के वरिष्ठजन सहित विद्यार्थी शामिल रहे।


Write Your Comments Here:


img

राष्ट्रीय नवसृजन युवा संकल्प समारोह, नागपुर

युगऋषि के श्रीचरणों में समर्पित हुई देश, संस्कृति के लिए तड़पती जवानी१०,००० लोगों की भागीदारी हर प्रांत के लोगों की भागीदारी अमेरिका, कनाडा, इंग्लैण्ड, नेपाल के युवा भी आयेनागपुर। महाराष्ट्रयुवा क्रांति वर्ष २०१६- १७ युग निर्माण आन्दोलन के इतिहास का.....

img

युगसृजेता नगर, परम पूज्य गुरुदेव के सतयुगी सपनों का जीता-जागता स्वरूप

प्रशिक्षण के स्वरूप
• वरिष्ठों के उद्बोधन • आन्दोलनों के प्रारूप
• प्रस्तुतियाँ, समूह चर्चाएँ • कुशल प्रबंधन

माँ उमिया धाम के विशाल मैदान पर २६ से २८ जनवरी की तारीखों में लघु भारत के दर्शन हुए। प्रत्येक व्यक्ति में माँ भारती की.....

img

क्रांति रथ यात्रा में बताया नशा देश के लिए घातक

Guna News in Hindi: : जिले के भ्रमण पर आए गायत्री परिवार के युवा क्रांति रथयात्रा जिले की विभिन्न तहसीलों व गांवों में पहुंचा। जहां यात्रा गायत्री परिजनों व लोगों ने रथ का स्वागत किया। इस दौरान साडा काॅलोनी एवं कस्बे के.....