बाधाओं को चीरकर राह आसान करने वाला हो युवा : डॉ. पण्ड्याजी

Published on 2017-03-18

शांतिकुंज में राष्ट्रीय संगोष्ठी का शुभारंभ-
नेपाल सहित देश के २२ राज्यों के १२०० से अधिक प्रांतीय व जिला समन्वयक शामिल
तेलुगु तथा गुजराती भाषा की कुल २१ किताबों का हुआ विमोचन

हरिद्वार १८ मार्च।

अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने कहा कि सक्रिय रहने वाले का नाम युवा है। ऐसे युवा ही बाधाओं को चिरते हुए नये व आसान राह बनाते हैं। युवावस्था में उत्साह, उमंग का संचार होता है। युवा वह है जो भाग्य पर नहीं, कर्म पर विश्वास करता है।

डॉ. पण्ड्याजी शांतिकुंज में आयोजित तीन दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे। इस संगोष्ठी में नेपाल सहित देश के उत्तराखण्ड, गोवा, केरल, कर्नाटक, जम्मू कश्मीर सहित २२ राज्यों के १२०० से अधिक जोनल, प्रांतीय व जिला समन्वयक शामिल हैं। उन्होंने कहा कि युवाओं को जगाने का यह सुनहरा मौका है। इस समय युवाओं को केवल दिशाधारा देने की जरूरत है जिससे वे सद्विचारों एवं समाजोत्थान के कार्यों को प्राथमिकता के साथ करने के लिए आगे आ सके। उन्होंने कहा कि प्राचीनकाल से लेकर आज तक समाज में जितने भी सकारात्मक बदलाव हुए हैं, वे सब युवाओं की सक्रियता एवं रचनात्मक सोच की देन है। डॉ. पण्ड्याजी ने इस सम्बन्ध में कश्मीर के प्रकाण्ड विद्वान कलहट, हरिद्वार के अपरिग्रही व हिन्दी व्याकरण के विद्वान श्री किशोरीदास वाजपेयी, युगऋषि पं. श्रीराम शर्मा आचार्यजी की युवावस्था में किये देशहित के कार्यों की विस्तार से जानकारी दी।

युवाक्रांति विस्तार वर्ष के प्रमुख कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए गायत्री परिवार प्रमुख ने कहा कि २ मई को पतित पावनी गंगा व जलस्रोतों में स्वच्छता अभियान, २१ से २९ जून को योग सप्ताह, जुलाई के प्रथम सप्ताह में वृक्षारोपण, २७ से २९ जनवरी २०१८ को युवाक्रांति वर्ष की पूर्णाहुति सहित विभिन्न आयोजन सम्पन्न होंगे। उन्होंने कहा कि पारिवारिक सम्मेलन, डिवाइन वर्कशाप, प्रवासी युवा सम्मेलन, स्कूल- कॉलेजों में विशेष प्रशिक्षण, नारी जागरण शिविर, बालसंस्कार शालाओं सहित कई कार्यक्रम चलाये जायेंगे।

राष्ट्रीय जोनल समन्वयक श्री कालीचरण शर्मा ने देश भर में युवाओं को रचनात्मक दिशा देने एवं युग निर्माण के शतसूत्रीय योजनाओं के संचालन में जुटे इकाइयों की जानकारी दी। कहा कि देश भर में गायत्री परिवार के युवा संगठनात्मक एवं रचनात्मक गतिविधियों के अन्तर्गत सक्रियता के साथ आत्म विकास व समाज के नवनिर्माण में जुटे हैं, यह देश के विकास के लिए शुभ संकेत है।

इससे पूर्व दक्षिण पूर्व जोन के केन्द्रीय समन्वयक श्री गंगाधर चौधरी ने गायत्री परिवार के जनक पं. श्रीराम शर्मा आचार्यजी के विशेष सन्देश 'अपने अंग अवयव से' का पाठ किया। तो वहीं संगीत विभाग के भाइयों ने ओजपूर्ण गीत से प्रतिभागियों में उत्साह का संचार किया। इस दौरान गायत्री परिवार प्रमुख ने तेलुगु के बीस व गुजराती के एक पुस्तक का विमोचन किया। उद्घाटन सत्र का संचालन युवा प्रकोष्ठ के प्रभारी श्री केपी दुबे ने किया। इस अवसर पर 'प्रज्ञा अभियान' के संपादक श्री वीरेश्वर उपाध्याय, डॉ. बृजमोहन गौड, कपिल केशरी वर्मा, डॉ. ओपी शर्मा आदि वरिष्ठ कार्यकर्त्ताओं सहित केन्द्रीय जोनल के समस्त प्रभारीगण उपस्थित रहे।

img

राष्ट्रीय नवसृजन युवा संकल्प समारोह, नागपुर

युगऋषि के श्रीचरणों में समर्पित हुई देश, संस्कृति के लिए तड़पती जवानी१०,००० लोगों की भागीदारी हर प्रांत के लोगों की भागीदारी अमेरिका, कनाडा, इंग्लैण्ड, नेपाल के युवा भी आयेनागपुर। महाराष्ट्रयुवा क्रांति वर्ष २०१६- १७ युग निर्माण आन्दोलन के इतिहास का.....

img

युगसृजेता नगर, परम पूज्य गुरुदेव के सतयुगी सपनों का जीता-जागता स्वरूप

प्रशिक्षण के स्वरूप
• वरिष्ठों के उद्बोधन • आन्दोलनों के प्रारूप
• प्रस्तुतियाँ, समूह चर्चाएँ • कुशल प्रबंधन

माँ उमिया धाम के विशाल मैदान पर २६ से २८ जनवरी की तारीखों में लघु भारत के दर्शन हुए। प्रत्येक व्यक्ति में माँ भारती की.....

img

क्रांति रथ यात्रा में बताया नशा देश के लिए घातक

Guna News in Hindi: : जिले के भ्रमण पर आए गायत्री परिवार के युवा क्रांति रथयात्रा जिले की विभिन्न तहसीलों व गांवों में पहुंचा। जहां यात्रा गायत्री परिजनों व लोगों ने रथ का स्वागत किया। इस दौरान साडा काॅलोनी एवं कस्बे के.....