देसंविवि के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्याजी विदेश रवाना

Published on 2017-05-17
img

हंगरी व पौलेण्ड में भारतीय संस्कृति के विस्तार के लिए विवि की दो और टीमें रवाना
हरिद्वार १७ मई।

देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्याजी आज इंग्लैण्ड के लिए रवाना हुए। वे युवावर्ग के लिए आयोजित होने वाले युथ कैम्प की तैयारियों का जायजा लेंगे। साथ ही वे अमेरिका- कनाड़ा के संयुक्त तत्त्वावधान में जुलाई माह में होने वाले युथ कैम्प व १०८ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ की तैयारियों के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश देंगे।

विवि मीडिया विभाग ने विज्ञप्ति जारी कर बताया कि देसंविवि अपनी १५ वर्ष की यात्रा में भारत सहित रसिया, इंग्लैण्ड, लात्विया, पौलैण्ड, ग्रीस, हंगरी, अमेरिका, कनाडा, इंग्लैंड, आस्ट्रेलिया, पुर्तगाल, इटली सहित अनेक देशों के बीच शैक्षणिक समझौते किया है। इसके तहत समय- समय पर प्रोफेसर्स एवं विद्यार्थियों के शैक्षणिक पठन- पाठन हेतु यात्राएँ होती रही हैं। इसी कड़ी में दो टीमें हंगरी व पौलेण्ड के संस्थानों में शैक्षणिक आदान प्रदान के लिए आज रवाना हुई। इसमें कम्प्यूटर साइंस विभाग के प्रमुख प्रो. अभय सक्सेना हंगरी के बिजीनेस स्कूल वूडापेस में १५ दिन तक भारतीय संस्कृति के वैज्ञानिक पक्षों को युवाओं के बीच रखेंगे। यह आमंत्रण उन्हें युनिवर्सिटी आफ एप्लाइड साइंस बुडापेस्ट के बुडापेस्ट बिजनेस स्कूल के अंतर्गत ओरिएंटल बिजनेस एवं इनोवेशन सेंटर के प्रमुख सावा मोल्डिज की ओर से आमंत्रण मिला था।

वहीं देसंविवि के प्रोफेसर्स की एक अलग टीम को वाइस रेक्टर प्रो. मारेक माको काजी मिर्जवेल्की यूनिवर्सिटी बिगोड्ज ने एरस्मस स्कॉलरशिप देते हुए स्टाफ एक्सचेंज प्रोग्राम के अन्तर्गत आमंत्रित किया। विवि के श्री ज्वलंत भावसार, श्री चन्द्रशेखर पटेल व डॉ० इप्सित प्रताप सिंह भारतीय की टीम योग एवं भारतीय संस्कृति की विशेष प्रशिक्षण एवं युवा वर्ग का मार्गदर्शन करेगी।

शांतिकुंज स्थित विदेश विभाग से मिली जानकारी के अनुसार कनाडा व अमेरिका के सम्मिलित में आगामी जुलाई माह में होने वाले यूथ कैम्प एवं १०८ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ की तैयारी हेतु प्रो. विश्वप्रकाश त्रिपाठी, श्री ओंकार पाटीदार, श्री छबिलाल गढ़िया की टीम कनाड़ा जायेगी। विदेश विभाग प्रमुख डॉ. अमल कुमार दत्ता ने बताया कि श्री हरिप्रसाद चौधरी व वसंत यादव फीजी व आस्ट्रेलिया के युवाओं एवं कार्यकर्त्ताओं के बीच गहन मंथन कर लौटे। इन्होंने युवाओं को सकारात्मक दिशा देने एवं उन्हें भारतीय संस्कृति के प्रति आकर्षिक करने में विशेष सफलता प्राप्त की।

img

शराब से पीड़ित जनमानस की आवाज बनकर उभरा है गायत्री परिवार का प्रादेशिक युवा संगठन

शराबमुक्त स्वर्णिम मध्य प्रदेश

अखिल विश्व गायत्री परिवार की मध्य प्रदेश इकाई ने सितम्बर माह से अपने राज्य को शराबमुक्त करने के लिए एक संगठित, सुनियोजित अभियान चलाया है। इस महाभियान में केवल गायत्री परिवार ही नहीं, तमाम सामाजिक, स्वयंसेवी संगठनों.....

img

ग्राम तीर्थ जागरण यात्रा

चलो गाँव की  ओर ०२ से ०८ अक्टूबर २०१७हर शक्तिपीठ/प्रज्ञापीठ/मण्डल से जुडे कार्यकर्त्ता अपने- अपने कार्यक्षेत्र (मण्डल) के ग्रामों की यात्रा पर निकलेंसंस्कारयुक्त, व्यसनमुक्त, स्वच्छ, स्वस्थ, स्वावलम्बी, शिक्षित एवं सहयोग से से भरे- पूरे ग्राम बनाने के लिये अभियान चलायेंएक.....