Published on 2017-05-22
img

युवाओं के चहुंमुखी विकास हेतु कार्यों पर हुई गहन चर्चा
हरिद्वार, २२ मई।

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्याजी एवं सुपर कम्प्यूटर के जनक एवं नालंदा विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ. विजय पी. भटकरजी के बीच युवाओं के विकास के लिए संयुक्त कार्य योजनाओं पर चर्चा हुई। दोनों कुलाधिपतियों ने युवाओं के शैक्षणिक क्षमता के साथ आध्यात्मिक विकास के लिए साझा कार्य करने पर विस्तार से चर्चा की।

शिक्षा जगत के दोनों शिखर पुरुषों ने नालंदा विश्वविद्यालय एवं जीवन विद्या के आलोक केन्द्र में रूप में ख्याति प्राप्त देवसंस्कृति विश्वविद्यालय में युवाओं को गढ़ने एवं उनके व्यक्तित्व विकास के लिए चलाये जाने वाली विभिन्न गतिविधियों पर भी चर्चा की। शैक्षणिक जगत में नालंदा विश्वविद्यालय को अपने नाम के अनुरूप पुर्नस्थापना में देवभूमि हरिद्वार स्थित देवसंस्कृति विश्वविद्यालय सहयोग के लिए अपना हाथ बँटाने के लिए सहमत हैं। तो वहीं विज्ञान के क्षेत्र में देवसंस्कृति विवि को पद्मश्री डॉ. विजय पी भटकर ने हर संभव सहयोग करने के लिए अपनी सहमति प्रकट की।

दोनों शिखर पुरुषों ने आशा व्यक्त की कि विज्ञान एवं अध्यात्म के मिलन से दोनों संस्थानों के युवा सामाजिक एवं नैतिक दायित्वों का निर्वहन करने के लिए प्रेरित होंगे, तो वहीं अपने परिवार, समाज व राष्ट्र की उन्नति में सहायक भी होंगे। साथ ही दोनों संस्थानों में अध्ययनरत युवाओं की पर्यावरण संरक्षण, युवा जागरण, कुरीति उन्मूलन- सत्प्रवृत्ति संर्वधन आदि रचनात्मक कार्यक्रमों में आपसी सहयोग एवं भागीदारी सुनिश्चित की जायेगी।

इस अवसर पर कुलाधिपति श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने कहा कि देसंविवि अपने आराध्यदेव के संकल्पनाओं को पूरा करने में शनैः- शनैः गतिमान है। देश- विदेश के अनेक शैक्षणिक संस्थानों का भी सहयोग मिल रहा है। युवाओं को रचनात्मक एवं सुधारात्मक कार्यों के साथ भारतीय संस्कृति की ओर आकर्षित करने में अच्छी सफलता मिल रही है। पद्मश्री डॉ. विजय भटकर ने कहा कि गायत्री परिवार का सहयोग मिलने से हम युवाओं के साथ एक नया कीर्तिमान रच सकते हैं। गायत्री परिवार के लाखों युवा समाज व राष्ट्र के विकास में जुटे हैं, यह एक अनुपम उदाहरण है।



Write Your Comments Here:


img

शराब से पीड़ित जनमानस की आवाज बनकर उभरा है गायत्री परिवार का प्रादेशिक युवा संगठन

शराबमुक्त स्वर्णिम मध्य प्रदेश

अखिल विश्व गायत्री परिवार की मध्य प्रदेश इकाई ने सितम्बर माह से अपने राज्य को शराबमुक्त करने के लिए एक संगठित, सुनियोजित अभियान चलाया है। इस महाभियान में केवल गायत्री परिवार ही नहीं, तमाम सामाजिक, स्वयंसेवी संगठनों.....

img

ग्राम तीर्थ जागरण यात्रा

चलो गाँव की  ओर ०२ से ०८ अक्टूबर २०१७हर शक्तिपीठ/प्रज्ञापीठ/मण्डल से जुडे कार्यकर्त्ता अपने- अपने कार्यक्षेत्र (मण्डल) के ग्रामों की यात्रा पर निकलेंसंस्कारयुक्त, व्यसनमुक्त, स्वच्छ, स्वस्थ, स्वावलम्बी, शिक्षित एवं सहयोग से से भरे- पूरे ग्राम बनाने के लिये अभियान चलायेंएक.....