Published on 2017-05-14

कानपुर : 'आओ गड़ें संस्कारवान पीड़ी' के अंतर्गत आजाद नगर, कानपुर के एक अस्पताल में गायत्री परिवार की महिला परिजनों ने अस्पताल में आयी हुईं महिलाओं को गर्भोत्सव संस्कार से अवगत कराया, और गर्भवती महालाओं को सु-संतान प्राप्ति के लिए स्वस्थ दीनचर्या का महत्व बताया |


Write Your Comments Here:


img

होलिकोत्सव का स्वरूप विवेकयुक्त, प्रदूषण- अंधपरम्परा मुक्त रहे

सुसंगठित सुनियोजित प्रयासों से पर्याप्त सफलता मिल सकती हैविवेकयुक्त परम्पराएँजन जीवन में परम्पराओं का विशेष महत्त्व रहा है। विकासमान पीढ़ी और जनसामान्य को संस्कृति के दार्शनिक स्वरूप का बोध बहुत कम होता है। वे तो उल्लास भरी.....

img

आओ गढ़ें संस्कारवान पीढ़ी विषय पर चिकित्सकों का एक दिवसीय सम्मेलन शांतिकुंज में हुआ सम्पन्न

व्यक्ति निर्माण में चिकित्सकों की भूमिका पर हुआ मन्थन 
आओ गढ़ें संस्कारवान पीढ़ी विषय पर चिकित्सकों का एक दिवसीय सम्मेलन शांतिकुंज के रामकृष्ण हॉल में सम्पन्न हुआ। सम्मेलन का शुभारम्भ शान्तिकुञ्ज  मनीषी श्री वीरेश्वर उपाध्याय एवं पूर्व महानिदेशक, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं.....