दीया राजस्थान द्वारा एक प्रशंसनीय पहल की शुरुआत

Published on 2017-06-11
img


कोटा: आज की दुनिया में जब बच्चे अधिकतर डिजिटल मनोरंजन (( मोबाइल, टीवी, विडिओ गेम इत्यादि )) से जुड़े हुए हैं, शारीरिकगतिविधियों (बौद्धिक और मैदानी खेल )) में कमी के कारण उनका शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य ख़राब होता जा रहा है ।। ऐसे में उनके समुचित विकास के लिए देश भर में चलाये जा रहे ग्रीष्मकालीन शिविर एक प्रशंसनीय कदम हैं ।। दीया राजस्थान ने 5 दिनों के एक आवासीय ग्रीष्मकालीन शिविर ‘उत्कर्ष’ का संकल्प लिया है, पिछले वर्ष भाग लेने वाले बच्चों की प्रशंसनीय प्रतिक्रिया के बाद, इस साल भी टीम तैयार है ।। यह शिविर राजस्थान के 12 जिलों में 11 से 25 जून तक आयोजित किये जायेंगे ।। कोटा और जालोर में यह पहले ही शुरू हो चुके हैं ।। हालांकि, अन्य जिलों में, यह संभवतः 14 से 18 जून तक शुरू हो जायेंगे ।।

img

सभ्य समाज के निर्माण में चिकित्सकों का योगदान

गाज़ियाबाद में हुए दो सेमीनार, गर्भवती बहनों में जागरूकता बढ़ाएँगे३५० चिकित्सकों ने लाभ लिया।अपने क्लीनिक के स्वागत कक्ष पर पोस्टर, बैनर, हैंगर टांगने तथा ब्रोशर व संबंधित पुस्तक, संबंधित टीवी प्रेज़ेण्टेशन आदि माध्यमों से गर्भवती बहनों को इस संदर्भ में.....

img

झुग्गी-झोपड़ियों के बच्चों को सँवारेगा शांतिकुंज

२७ नवंबर को हरकी पौड़ी के निकटवर्ती झुग्गी झोपड़ियों में रहने वाले बच्चों के लिए नई बाल संस्कार शाला का शुभारंभ हुआ।  शांतिकुंज व्यवस्थापक श्री शिवप्रसाद मिश्र एवं हरिद्वार के एसएसपी श्री कृष्ण कुमार वीके की धर्मपत्नी श्रीमती शीबा केके.....

img

अलवर में अनेक स्थानों पर बाल संस्कारशाला का सफल सञ्चालन

अलवर  | Rajasthanअलवर में चल रही है बाल संस्कार शाला के दृश्य |  महाराणा प्रताप बाल संस्कार शाला, प्रताप नगर,  पंडित दीनदयाल बाल संस्कार शाला,  आदर्श कॉलोनी, गोस्वामी तुलसीदास बाल संस्कार शाला, किशनगढ़ (अलवर),  संत कबीर बाल संस्कार शाला किशनगढ़(अलवर) | .....