ऑस्ट्रेलिया के सीताराम मंदिर, कारामार-न्यू साउथ वेल्स में 1008 दीपयज्ञ के साथ मनाये गये गुरुपूर्णिमा पर्व की छटा और दर्शकों की आस्था देखते ही बनती थी। उपस्थित लगभग 100 याजकों में ऑस्ट्रेलियाई मूल सहित कई देशों के लोग भी बड़ी संख्या में थे। श्री प्रताप शास्त्री, श्री जितेन्द्र मिश्रा और श्री बसंत यादव की टोली ने युग संदेश के साथ लोगों में भक्तिभाव का संचार करते हुए विश्वमानवता के कल्याण के लिए भावनाएँ जगायीं।

http://news.awgp.org/var/news/23/Australlia%20%281%29.JPG" height="112" width="150">शांतिकुंज प्रतिनिधियों से पूज्य गुरुदेव की साधना, मानवमात्र के कल्याण के लिए गायत्री का पुनरुद्धार करना, विपुल साहित्य लिखा जाना सभी के लिए श्रद्धास्पद और आश्चर्य का विषय था। याजकों ने बड़े भक्तिभाव के साथ गायत्री मंत्र और महामृत्युंजय मंत्र के साथ आहुतियाँ समर्पित करते हुए लोकमंगल के अभियान में सहभागी बनने के संकल्प लिये। प्राय: सभी नये लोगों ने अखण्ड ज्योति पत्रिका की सदस्यता ग्रहण की। लोगों की जिज्ञासा शांतिपाठ तक बनी रही, उन्होंने अधिक जानने के लिए उपायों की जानकारी भी ली। इस शानदार कार्यक्रम का आयोजन श्री नीरज राम एवं उनके साथियों ने किया था।


Write Your Comments Here:


img

दुबई में आयोजित योग सम्मेलन में देव संंस्कृति विश्वविद्यालय की भागीदारी

श्रीराम योग सोसाइटी एवं साधना वे योग सेण्टर कनाडा द्वारा देव संस्कृति विश्वविद्यालय हरिद्वार के सहयोग से दुबई में दो.....

img

ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में ‘फेथ इन लीडरशिप’ के अध्ययन- प्रोत्साहन के लिए केन्द्र का शुभारम्भ

ऑक्सफोर्ड  विश्वविद्यालय ‘नेतृत्व में आध्यात्मिक निष्ठा’ को प्रोत्साहित करने के लिए देव संस्कृति विश्वविद्यालय के साथ मिलकर कार्यक्रम चलाएगा। यह.....

img

लिथुआनिया पहुँची गुरुज्ञान की लाल मशाल

 अपने लंदन और यूरोप के दौरे में दे० सं० वि० वि० के प्रति कुलपति डॉ. चिन्मय पंड्या जी ने बाल्टिक समुद्र के पास स्थित लिथुआनिया देश का दौरा किया जिसमे अनेक महत्वपूर्ण उपलब्धियाँ के पुष्पगुच्छ उन्होंने दिवाली के पावन पर्व.....