Published on 2017-06-27
img

लखनऊ (उत्तर प्रदेश)

२८ मई को राजधानी के शिवशांति आश्रम में 'आओ गढ़ें संस्कारवान पीढ़ी' विषय पर एक बृहद् संगोष्ठी हुई। नगर के सभी जोनों और आसपास के जिलों के प्रमुख ५०० कार्यकर्त्ताओं ने इसमें भाग लिया। इसे संबोधित करने शांतिकुंज से डॉ. गायत्री शर्मा, डॉ. ओ.पी. शर्मा, श्री आशीष सिंह और सुश्री ऋतु सिंह की टोली पहुँची थी।

डॉ. गायत्री शर्मा ने उत्तराखंड के साथ सारे देश में तेजी से गतिशील हो रहे गर्भ संस्कार महोत्सवों की जानकारी दी। उन्होंने शिशु के निर्माण में पुंसवन संस्कार के व्यावहारिक, वैज्ञानिक एवं आध्यात्मिक लाभों की जानकारी पावर पॉइण्ट प्रेज़ेण्टेशन के माध्यम से दी।
द्वितीय सत्र में श्री आशीष सिंह एवं सुश्री ऋतु सिंह ने बाल संस्कार शाला संचालन के सैद्धांतिक एवं व्यावहारिक पक्ष समझाये। सभी जोन प्रतिनिधियों ने भी अपने विचार व्यक्त करते हुए अभियान को गति देने के संकल्प लिये। कार्यक्रम का संचालन श्रीमती निष्ठा ने किया।

प्रशासनिक अधिकारियों की विशेष गोष्ठी
इसी अभियान को गति देने के लिए एक गोष्ठी अतिरिक्त महानिदेशक परिवार कल्याण डॉ. नीना गुप्ता के कार्यालय स्थित सभागार में हुई। डॉ. गायत्री शर्मा ने कहा कि यह अभियान गर्भ से ही माता एवं शिशु को पूर्ण स्वास्थ्य प्रदान करने, माता- शिशु की मृत्युदर कम करने, कन्याभ्रूण हत्या रोकने, कुपोषण दूर करने आदि में अत्यंत प्रभावशाली सिद्ध हो रहा है। इस अभियान को आशा कार्यकर्त्ती व सुपरवाइजर्स एवं अन्य स्वास्थ्य कर्मियों के माध्यम से गति दी जा सकती है।

महानिदेशक ने शीघ्र ही उत्तर प्रदेश के सभी ७२ जिलों में इस अभियान को गतिशील करने में सहयोग प्रदान करने के निर्देश जारी करने का आश्वासन दिया है।


Write Your Comments Here:


img

शराब से पीड़ित जनमानस की आवाज बनकर उभरा है गायत्री परिवार का प्रादेशिक युवा संगठन

शराबमुक्त स्वर्णिम मध्य प्रदेश

अखिल विश्व गायत्री परिवार की मध्य प्रदेश इकाई ने सितम्बर माह से अपने राज्य को शराबमुक्त करने के लिए एक संगठित, सुनियोजित अभियान चलाया है। इस महाभियान में केवल गायत्री परिवार ही नहीं, तमाम सामाजिक, स्वयंसेवी संगठनों.....

img

ग्राम तीर्थ जागरण यात्रा

चलो गाँव की  ओर ०२ से ०८ अक्टूबर २०१७हर शक्तिपीठ/प्रज्ञापीठ/मण्डल से जुडे कार्यकर्त्ता अपने- अपने कार्यक्षेत्र (मण्डल) के ग्रामों की यात्रा पर निकलेंसंस्कारयुक्त, व्यसनमुक्त, स्वच्छ, स्वस्थ, स्वावलम्बी, शिक्षित एवं सहयोग से से भरे- पूरे ग्राम बनाने के लिये अभियान चलायेंएक.....