Published on 2017-07-01

उ.प्र, म.प्र, राज. सहित ९ राज्यों के १० केन्द्रों में आयोजित हुई परीक्षा

हरिद्वार १ जुलाई।
देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के नये सत्र में भारत के १५ से अधिक राज्य के १५४६ विद्यार्थियों ने प्रवेश परीक्षा में भाग लिया। प्रवेश परीक्षा हरिद्वार स्थित देसंविवि के अलावा भोपाल (म.प्र), जोधपुर(राजस्थान), कोलकाता (प० बंगाल), लखनऊ, नोएडा (उ.प्र), नागपुर (महा.) राजनांदगाँव (छ.ग), बडौदा (गुजरात), पटना (बिहार) में एक साथ आयोजित हुई। देसंविवि की टीम सभी परीक्षा केन्द्रों में संचालन के लिए पहुँची है। इस वर्ष योग, मनोविज्ञान, पत्रकारिता, कम्प्यूटर साइंस, शिक्षा शास्त्र, पर्यावरण विज्ञान आदि से संबंधित कुल ४० विषयों में डिप्लोमा, स्नातक, परास्नातक, एम फिल, पीएचडी में दाखिला के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित हुई। तो वहीं बीएड के अभ्यर्थियों ने आनलाइन प्रवेश परीक्षा दी।

देसंविवि के परीक्षा नियंत्रक व प्रतिकुलपति डॉ चिन्मय पण्ड्याजी के अनुसार योग, मनोविज्ञान, पत्रकारिता, पर्यावरण विज्ञान, भारतीय इतिहास एवं संस्कृति, संस्कृत, हिन्दी सहित कुल ४० विषयों में एमएससी, एमए, बीएससी, बीए, डिप्लोमा, सर्टीफिकेट डिग्री के ४०५ सीट्स के लिए विद्यार्थियों ने प्रवेश परीक्षा दी। प्रवेश परीक्षा के परिणाम ५ जुलाई को जारी किए जायेंगे। स्नातक व प्रमाण पत्र पाठ्यक्रम के विद्यार्थियों का साक्षात्कार ७ व ८ जुलाई को तथा एम.फिल, परास्नातक एवं डिप्लोमा वर्ग का इंटरव्यू १० व ११ जुलाई को निर्धारित है। उन्होंने बताया कि १३ जुलाई को चयनित अभ्यर्थियों की घोषणा की जायेगी। ज्ञातव्य हो कि प्रमाण पत्र पाठ्यक्रम में प्रवेश के अभ्यर्थी सीधे इंटरव्यू में भाग लेंगे।

कुलसचिव श्री संदीप कुमार ने बताया कि कुलाधिपति श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी की अध्यक्षता एवं कुलपति श्री शरद पारधी जी की विशेष उपस्थिति में देसंविवि में प्रवेश के लिए चयनित छात्र- छात्राओं का ज्ञानदीक्षा समारोह २० जुलाई को आयोजित होगा।


Write Your Comments Here:


img

शराब से पीड़ित जनमानस की आवाज बनकर उभरा है गायत्री परिवार का प्रादेशिक युवा संगठन

शराबमुक्त स्वर्णिम मध्य प्रदेश

अखिल विश्व गायत्री परिवार की मध्य प्रदेश इकाई ने सितम्बर माह से अपने राज्य को शराबमुक्त करने के लिए एक संगठित, सुनियोजित अभियान चलाया है। इस महाभियान में केवल गायत्री परिवार ही नहीं, तमाम सामाजिक, स्वयंसेवी संगठनों.....

img

ग्राम तीर्थ जागरण यात्रा

चलो गाँव की  ओर ०२ से ०८ अक्टूबर २०१७हर शक्तिपीठ/प्रज्ञापीठ/मण्डल से जुडे कार्यकर्त्ता अपने- अपने कार्यक्षेत्र (मण्डल) के ग्रामों की यात्रा पर निकलेंसंस्कारयुक्त, व्यसनमुक्त, स्वच्छ, स्वस्थ, स्वावलम्बी, शिक्षित एवं सहयोग से से भरे- पूरे ग्राम बनाने के लिये अभियान चलायेंएक.....