ज्ञान के अग्रदूतों का सम्मान समारोह, वृक्षगंगा काँवड़ यात्रा में सैकड़ों ने लिया भाग

Published on 2017-07-08

हरिद्वार ८ जुलाई।
गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय गुरुपूर्णिमा पर्वोत्सव के दूसरे दिन विभिन्न राज्यों में ज्ञान क्रांति के अलख जगाने वाले सात अग्रदूतों को सम्मानित किया गया। तो वहीं प्रातःकालीन नशा मुक्ति व पर्यावरण रैली निकाली गयी, जिसमें वृक्ष गंगा का काँवड़ लेकर सैकड़ों पीतवस्त्रधारी नर- नारियों ने भाग लिया।

सम्मान समारोह की अध्यक्षता करते हुए गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने संत कबीर के दोहे को याद करते हुए सद्गुरु आये आई ज्ञान की आंधी... से अपनी बात शुरू की। उन्होंने कहा कि सद्विचारों को चहुँओर फैलाने के लिए सृजन सैनिकों की आवश्यकता होती है और गायत्री परिवार के करोड़ों सदस्य अपने आराध्य सद्गुरु के विचारों को जन जन तक पहुँचाने के कार्य में जुटे हैं।

इस अवसर पर गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी, व्यवस्थापक श्री गौरीशंकर शर्मा जी एवं प्रज्ञा अभियान के संपादक श्री वीरेश्वर उपाध्याय जी ने गाजियाबाद के श्री अरिवन्द शर्मा, रायपुर छ.ग की श्रीमती सरला कौशल्या, लखनऊ के श्री उमानंद शर्मा, बरेली उ.प्र के श्री आर.के.सरकार, गुड़गाँव की श्रीमती श्वेता चक्रवर्ती, खरगोन के श्री राजेश तँवर एवं हैदराबाद के. रामचन्द्र राव को उनके ज्ञान क्रांति के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए शाल, स्मृति चिन्ह एवं प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया।

इससे पूर्व गुरुपूर्णिमा के पावन अवसर पर व्यसन मुक्ति व वृक्षारोपण के लिए जन जागरूकता रैली निकाली गयी, जिसे शांतिकुंज के वरिष्ठ कार्यकर्त्ता श्री केसरी कपिल जी एवं श्री कालीचरण शर्मा ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। रैली शांतिकुंज के गेट नं० तीन से निकली और सप्तऋषि क्षेत्र, भोपतवाला होते हुए युगऋषि के पावन समाधि स्थल पहुँची जहाँ महिला मण्डल की बहिनों ने आरती के साथ स्वागत किया। इस अवसर पर वरिष्ठ कार्यकर्त्ता श्री वीरेन्द्र तिवारी ने कहा कि पूज्य आचार्यश्री ने जो सदाचरण के सूत्र दिये हैं, उनको स्वयं अपनायें और दूसरों को भी प्रेरित करें। सायं महिला मण्डल प्रमुख श्रीमती यशोदा शर्मा, श्री सुधीर भारद्वाज एवं श्री संदीप कुमार ने गुरुपूर्णिमा पर्व पर विशेष व्याख्यान दिये। शांतिकुंज के मीडिया विभाग के अनुसार गुरुपूर्णिमा का मुख्य कार्यक्रम ९ जुलाई को होगा। इस अवसर पर विभिन्न संस्कार के अलावा सामूहिक गुरुदीक्षा का भी आयोजन होगा।

img

शराब से पीड़ित जनमानस की आवाज बनकर उभरा है गायत्री परिवार का प्रादेशिक युवा संगठन

शराबमुक्त स्वर्णिम मध्य प्रदेश

अखिल विश्व गायत्री परिवार की मध्य प्रदेश इकाई ने सितम्बर माह से अपने राज्य को शराबमुक्त करने के लिए एक संगठित, सुनियोजित अभियान चलाया है। इस महाभियान में केवल गायत्री परिवार ही नहीं, तमाम सामाजिक, स्वयंसेवी संगठनों.....

img

ग्राम तीर्थ जागरण यात्रा

चलो गाँव की  ओर ०२ से ०८ अक्टूबर २०१७हर शक्तिपीठ/प्रज्ञापीठ/मण्डल से जुडे कार्यकर्त्ता अपने- अपने कार्यक्षेत्र (मण्डल) के ग्रामों की यात्रा पर निकलेंसंस्कारयुक्त, व्यसनमुक्त, स्वच्छ, स्वस्थ, स्वावलम्बी, शिक्षित एवं सहयोग से से भरे- पूरे ग्राम बनाने के लिये अभियान चलायेंएक.....


Write Your Comments Here: