गायत्री विद्यापीठ में आयोजित हुआ राज्य स्तरीय टेबल टेनिस प्रतियोगिता

Published on 2017-08-30
img

शांतिकुंज- हरिद्वार के बच्चों ने जीते कई पदक और मोहा मन 
हरिद्वार २ सितम्बर। गायत्री विद्यापीठ शांतिकुंज में १७वीं राज्य स्तरीय टेबल टेनिस प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। प्रतियोगिता का शुभारंभ जिला शिक्षा अधिकारी आरडी शर्मा एवं विद्यापीठ के प्रधानाचार्य प्रो. एस.एन. मिश्रा ने सर्विस कर किया। 
अण्डर १४ की बालिका वर्ग में गायत्री विद्यापीठ, जनपद हरिद्वार की टीम ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। वहीं देहरादून जनपद की बालिका को दूसरा स्थान मिला। अण्डर १४ के बालक वर्ग में टिहरी जनपद के छात्रों को प्रथम तथा गायत्री विद्यापीठ, जनपद हरिद्वार के छात्रों को द्वितीय स्थान प्राप्त हुआ। अण्डर १७ की बालिका वर्ग में देहरादून जनपद की छात्राएँ अव्वल रहीं तो वहीं गायत्री विद्यापीठ, जनपद हरिद्वार के छात्राओं को द्वितीय से संतोष करना पड़ा। अण्डर १७ के बालक वर्ग में नैनीताल की टीम ने बाजी मारी तो वहीं देहरादून की टीम को दूसरा स्थान मिला। अण्डर १९ के बालक वर्ग में देहरादून की टीम ने नैनीताल की टीम को हराकर प्रथम स्थान प्राप्त किया। अण्डर १९ की बालिका वर्ग में पौड़ी जनपद से आयी छात्राओं की टीम ने देहरादून जनपद की छात्राओं को हराया। विजेता टीम को प्रधानाचार्य प्रो.एसएन मिश्रा, उपप्रधानाचार्य श्री भास्कर सिन्हा सहित विशिष्ट अतिथियों ने सम्मानित किया। 
इस अवसर पर विद्यापीठ व्यवस्था मण्डल की प्रमुख श्रीमती शेफाली पण्ड्याजी ने कहा कि आज यहाँ बच्चों ने जिस तरह लगन व उत्साह का प्रदर्शन किया है, यह उनके मनोयोग को दर्शाता है। प्रतियोगिता में बच्चों ने अपना सौ प्रतिशत दिया है। पढ़ाई के साथ- साथ प्रशिक्षण क्रम भी चलता रहेगा। उन्होंने कहा कि विद्यापीठ अपने छात्र- छात्राओं को आगे बढ़ने के लिए सदैव से प्रेरित करता आ रहा है। 

खेल समन्वयक श्री बालेश सिंह ने बताया कि प्रतियोगिता में हरिद्वार, देहरादून, नैनीताल, चमोली, टिहरी, पिथौरागढ़ एवं पौड़ी जनपद से ८७ बालक व ६३ बालिकाओं ने अपना दमखम दिखाया। इस अवसर पर राकेश वर्मा, रणपाल सिंह, प्रदीप राठी, भीम सिंह, गजेन्द्र सिंह, अनुराधा, नरेन्द्र गिरि आदि ने टेबल टेनिस के संचालन में विशेष योगदान दिया। 

img

देसंविवि में उसिनदिएना पर्व हर्षोल्लास के साथ सम्पन्न

आदमी की नस्ल सुधारने का कार्य कर रहा देसंविवि : डॉ. महेश शर्मावैश्विक एकता एवं शांति के लिए गायत्री परिवार पूरे विश्व में सक्रिय : डॉ. पण्ड्याजीरेनासा, संस्कृति संचार का हुआ विमोचन, डॉ. पण्ड्याजी ने अतिथियों को किया सम्मानितहरिद्वार २३.....

img

गंगा से भारत की पहचान : डॉ. पण्ड्या

गंगा सफाई में हजारों स्वयंसेवियों ने बहाया पसीनाहरिद्वार में सप्तऋषि क्षेत्र से जटवाडा पुल तक गंगा तटों की हुई वृहत सफाईहरिद्वार २२ अप्रैल।गंगा मैया के अवतरण दिवस के मौके पर गायत्री परिवार के करीब ढाई लाख स्वयंसेवक गोमुख से गंगासागर.....

img

जीवन यज्ञमय हो : डॉ. पण्ड्याजी

डॉ पण्ड्याजी ने विद्यार्थियों को बताया मानव जीवन की गरिमा का धर्महरिद्वार २० अप्रैल।देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने कहा कि मानव जीवन यज्ञमय होना चाहिए। यज्ञ अर्थात् दान, भावनाओं का दान, कर्म का दान आदि। जो कुछ.....