Published on 2017-09-16
img

गायत्री परिवार प्रमुखद्वय ने दिखाई हरी झंडी 

हरिद्वार १६ सितंबर। 
देश भर के युवाओं को तराशने एवं उन्हें समाजोत्थान के कार्यों के लिए प्रेरित करने के उद्देश्य से गायत्री परिवार के मुख्यालय देवभूमि स्थित शांतिकुंज से तीन और युवा क्रांति रथ आज रवाना हुआ। इसे देवात्मा हिमालय मंदिर परिसर से गायत्री परिवार के प्रमुखद्वय डॉ. प्रणव पण्ड्याजी एवं शैलदीदीजी ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। 

इस अवसर पर डॉ. पण्ड्याजी ने कहा कि ये युवा क्रांति रथ भारत के चारों दिशाओं के अंतिम राज्य के शहरों से प्रारंभ होकर देश के मध्य स्थित नागपुर में २५ जनवरी २०१८ तक पहुँचेंगे। जहाँ युवा विजन को लेकर एक विराट् युवा सम्मेलन कार्यक्रम निर्धारित है। अपनी यात्रा के दौरान ये रथ देश सभी प्रांतों के ७०७ जिलों में जायेंगे जहाँ स्कूल, कॉलेजों में आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों का संचालन भी करेंगे। प्रत्येक रथ एक दिन में औसतन ७० से ८० किमी की दूरी तय करेगा। उन्होंने कहा कि देश के ६५ करोड़ युवाओं के जागरण से ही भारत विश्व स्तर पर सिरमौर हो सकता है। परिवार, समाज व राष्ट्र की दिशा धारा तय करने में युवा पीढ़ी का महत्वपूर्ण योगदान होना चाहिए। संस्था की अधिष्ठात्री शैलदीदी ने कहा कि अपनी यात्रा के दौरान टीम युवा पीढ़ी को जगाने का कार्य करेगी। इसे एक महाक्रांति के रूप में समाज याद करेगा। इस जन जागरण अभियान में समाज के सभी धर्म संप्रदाय, संगठन के सदस्य शामिल हो सकते हैं। इससे पूर्व गायत्री परिवार प्रमुखद्वय ने वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ विशेष पूजन किया और रथ में रखे कलश में गंगाजल एवं हरिद्वार की पवित्र रज को स्थापित किया। 

जोनल प्रमुख श्री कालीचरण शर्मा के अनुसार पहला रथ तिनसुकिया आसाम से, दूसरा कटरा- जम्मू से तथा तीसरा रथ कन्याकुमारी से प्रारंभ होगा। तीन महीने से अधिक की अपनी यात्रा के दौरान दल ने विभिन्न रचनात्मक व प्रेरणादायी लघु फिल्मों के माध्यम से युवाओं को तराशने का कार्य करेगा। साथ ही शैक्षणिक संस्थानों में आयोजित होने वाली गोष्ठी, सम्मेलनों का संचालन भी करेगा। उन्होंने बताया कि तिनसुकिया से प्रारंभ होने वाले रथ का नेतृत्व विनय केसरी, कटरा से शुरु होने वाले रथ का जयप्रकाश वर्मा एवं कन्याकुमारी से चलने वाले युवा क्रांति रथ आशीष सिंह के नेतृत्व में चलेगा। युवा प्रकोष्ठ के केन्द्रीय समन्वयक केदार प्रसाद दुबे के अनुसार रथ में जनरेटर, १२ बाई ८ फीट की एलईडी स्क्रीन व साउण्ड सिस्टम है। इस अवसर पर शांतिकुंज के वरिष्ठ कार्यकर्त्ता श्री वीरेश्वर उपाध्याय, श्री कपिल केसरी, डॉ. ओपी शर्मा, श्री महेन्द्र शर्मा, जोनल समन्वयकगण सहित अंतेवासी कार्यकर्त्ता एवं देश के कोने- कोने से आये गायत्री साधक उपस्थित रहे। 


Write Your Comments Here:


img

प्राणियों, वनस्पतियों व पारिस्थितिक तंत्र के अधिकारों की रक्षा हेतु गायत्री परिवार से विनम्र आव्हान/अनुरोध

हम विश्वास दिलाते हैं की जीव, जगत, वनस्पति व पारिस्थितिकी तंत्र के व्यापक हित में उसके अधिकार को वापस दिलवाना ही हमारा एकमात्र उद्देश्य और मिशन है| जलवायु संकट की वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए तथा जीव-जगत को.....

img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....

img

देसंविवि के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ करते हुए डॉ. पण्ड्या ने कहा - कर्मों के प्रति समर्पण श्रेष्ठतम साधना

हरिद्वार 26 जुलाई।देसंविवि के कुलाधिपति श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या ने विश्वविद्यालय के नवप्रवेशी छात्र-छात्राओं के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ के अवसर पर गीता का मर्म सिखाया। इसके साथ ही विद्यार्थियों के विधिवत् पाठ्यक्रम का पठन-पाठन का क्रम की शुरुआत.....