माँ भगवती वात्सल्य निकेतन कर रहा है नक्सल पीड़ित बच्चों का लालन- पालन

Published on 2017-09-24
img

राजनांदगाँव। छत्तीसगढ़

गायत्री परिवार द्वारा संचालित माँ भगवती वात्सल्य निकेतन पिछले कई वर्षों से नक्सल पीड़ित अनाथ बच्चों का लालन- पालन कर रहा है। इस वर्ष 19 ऐसे बच्चे बस्तर के बीजापुर कोन्टा क्षेत्र से लाये गये हैं। इनकी उम्र 4 से 8 वर्ष है। वहाँ 19 बच्चे पहले से भी पाले जा रहे थे। इन सभी बच्चों का पालन- पोषण बिना किसी शासकीय अनुदान के किया जाता है। नगर के उदारमना महानुभाव भी इस कार्य में गायत्री परिवार का सहयोग बड़े उत्साह के साथ करते हैं।

नि:शुल्क चिकित्सा जाँच शिविर

28 अगस्त को माँ भगवती वात्सल्य निकेतन में नक्सल पीड़ित बच्चों का नि:शुल्क स्वास्थ्य परीक्षण आयोजित हुआ। नगर के प्रतिष्ठित चिकित्सकों पद्मश्री डॉ. पुखराज बाफ ना, डॉ. उत्तम कोठारी, डॉ. ताराचंद सोनी, डॉ. नरेन्द्र गाँधी, डॉ. नरेश कटियारा एवं डॉ. भिकम वैद्य ने बच्चों का सूक्ष्म स्वास्थ्य परीक्षण किया। भारतीय बाल स्वास्थ्य अकादमी, राजनांदगांव ने प्रतिमाह नि:शुल्क जाँच एवं दवा वितरण कार्य जारी रखने का आश्वासन दिया। पारस डायग्नोस्टिक सेंटर ने बच्चों की नि:शुल्क जाँच एवं टीके लगाने का आश्वासन दिया।

इस अवसर पर सर्वश्री जुगलकिशोर लड्ढा, नन्दकिशोर सुरजन, प्रेमप्रकाश सिंघल, हरीश गाँधी, सुनील ठक्कर, संजय लड्ढा, श्रीमती शकुन्तला लश्कर, शेखर लश्कर एवं वात्सल्य निकेतन के अधीक्षक श्री सार्वा जी का योगदान रहा।


Write Your Comments Here:


img

Gyan Yagya Borabonda, Hyderabad

Notebooks and Gurudev s Urdu yug parivartan sahitya distribution in Urdu school, Borabanda by Gayatri Pariwar Parijan Venkatesh Bhaiya, SriHari Bhaiya, Srinivasulu Bhaiya, Shrawan Kumar Bhaiya and Borabanda team, Hyderabad Telangana......