Published on 2017-10-03
img

इस वर्ष परम वंदनीया माताजी की जन्मशताब्दी तक चलने वाले मातृशक्ति श्रद्धांजलि महापुरश्चरण को ध्यान में रखते हुए कार्यक्रमों की शृंखला आयोजित की गयी है। कार्यक्रमों के संचालन के लिए २८ सितम्बर को शांतिकुंज से टोलियों को भावभरी विदाई दी गयी। आदरणीया जीजी, डॉ. साहब ने टोली में जाने वाले कार्यकर्त्ताओं का मंगल तिलक कर भावभरी विदाई दी। इस अवसर पर उन्होंने युग पुरोहितों की गरिमा बनाये रखते हुए केवल प्रवचनों से ही नहीं, अपने चरित्र और व्यवहार से भी जनमानस पर परम पूज्य गुरुदेव, वंदनीया माताजी द्वारा दी गयी शिक्षाओं को जन- जन तक पहुँचाने का आह्वान किया। इसके लिए आवश्यक अनुशासन और मर्यादाओं की याद दिलाई।

तीन प्रकार के कार्यक्रम
इस वर्ष पूरे देश में तीन प्रकार के कार्यक्रम आयोजित हो रहे हैं।
१. श्रद्धा संवर्धन आधारित चार दिवसीय गायत्री महायज्ञ,
२. पावन, अविरल, निर्मल गंगा के प्रति जागरूकता बढ़ाने वाले तीन दिवसीय कार्यक्रम और
३.युगऋषि की आदर्श ग्राम योजना को प्रोत्साहित करने वाले ढाई दिवसीय कार्यक्रम। तीनों ही कार्यक्रमों में प्रात:काल यज्ञ, संस्कार आदि कार्यक्रम रखे गये हैं। सभी में पुस्तक मेले लगाये जायेंगे।

पावन, अविरल, निर्मल गंगा के प्रति जागरूकता बढ़ाने वाले अधिकांश कार्यक्रम गंगा के तटवर्ती क्षेत्रों में रखे गये हैं। इनके माध्यम से गंगा स्वच्छता के लिए संंगठित होकर सक्रिय होने की प्रेरणा दी जायेगी, उपाय बताये जायेंगे और कथा- प्रवचनों से श्रद्धा उभारी जायेगी।

आदर्श ग्राम योजना संबंधी कार्यक्रमों के लिए विशेषज्ञों की टोली रवाना हुई है जो युगऋषि की योजनाओं को समझायेंगे, उन्हें क्रियान्वित करने वाले संगठन बनायेंगे।

नौ टोलियाँ रवाना हुर्इं : टोलियों की विदाई से पहले ९ दिवसी पुनर्वीक्षण शिविर आयोजित किया गया। कुल ४९ सत्रों में शांतिकुंज के वरिष्ठ वक्ताओं ने उनका मार्गदर्शन किया।


Write Your Comments Here:


img

नौ कुण्डी यज्ञ

मोंटफोर्ट इंटरकालेज लक्सर संस्थापक श्री यशवीर चौधरी जी द्वारा अपने नए हाल का शांतिकुंज के आये टोली के माध्यम से नौ कुंडी यज्ञीय परिवेश में अपने हाल एवं ऑफिस का उद्दघाटन किया।.....