Published on 2017-10-28
img

हरिद्वार, २८ अक्टूबर।
गायत्री तीर्थ शांतिकुंज के कार्यकर्त्ता अपनी सेवा में कार्य में रात दिन जुटे रहते हैं, तो वहीं उनके बच्चे गायत्री परिवार के प्रमुखद्वय श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्याजी एवं श्रद्धेया शैलदीदीजी के मार्गदर्शन में खेल, योग, शिक्षा, शोध जैसी अनेक विधाओं में कीर्तिमान स्थापित कर रहे हैं। डॉ. पण्ड्या व शैलदीदी बच्चों की शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य के लिए सदैव प्रेरित करते हैं। उनकी प्रेरणा का ही परिणाम है कि गायत्री परिवार के बच्चे विभिन्न क्षेत्रों में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है।

पिछले दिनों देहरादून में आयोजित राष्ट्रीय स्कूल चैम्पियनशिप क्रिकेट प्रतियोगिता में देश भर के १२ राज्यों की टीम ने भागीदारी की। तमिलनाडू के विरुद्ध खेलते हुए गायत्री विद्यापीठ के कक्षा ७ के छात्र पूर्वांश ध्रुव अपने बेहतरीन फार्म को बरकरार रखा। वे ६७ गेंदों में १५८ रन (नाबाद) की धुंआधार पारी खेलकर न केवल अपनी गढ़वाल जोन की टीम को विजयी ट्राफी दिलाई, बल्कि अपने नाम एक पारी में सर्वश्रेष्ठ रन का स्कोर भी बनाया। अपनी पारी में ७ गगनचुम्बी छक्के व २२ चौके लगाया। विपक्षी तमिलनाडू की टीम पूर्वांश के सामने असहाय नजर आये और पूर्वांश का विकेटलेने के लिए अपने सात गेंदबाजों का प्रयोग किया।

वहीं गेंदबाजी में पूर्वांश ने तमिलनाडू के ४ खिलाड़ियों को पैवेलियन भेजकर उसकी कमर तोड़ दी। पूर्वांश के इस हरफनमौला खेल के लिए उसे बेस्ट आल राऊंडर का खिताब से नवाजा गया। यहाँ बताते चलें कि पिछले दिनों अपने पहले विदेश (मलेशिया) दौरे में भी पूर्वांश ने भारत को जीत दिलाने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। शांतिकुंज लौटने पर श्रद्धेय डॉ. साहब व श्रद्धेया दीदीजी ने पूर्वांश को शुभ कामनाओं के साथ उसकी जीत के लिए बधाई दी।

शांतिकुंज कार्यकर्त्ता मालिकराम ध्रुव व राधा ध्रुव अपने बेटेा पूर्वांश की सफलता पर खुशी प्रकट करते हुए कहा कि उसकी सफलता में गायत्री महामंत्र के नियमित जप का विशेष योगदान है। उसकी दिनचर्या में गायत्री मंत्र का जप, योग शामिल है।


Write Your Comments Here:


img

प्राणियों, वनस्पतियों व पारिस्थितिक तंत्र के अधिकारों की रक्षा हेतु गायत्री परिवार से विनम्र आव्हान/अनुरोध

हम विश्वास दिलाते हैं की जीव, जगत, वनस्पति व पारिस्थितिकी तंत्र के व्यापक हित में उसके अधिकार को वापस दिलवाना ही हमारा एकमात्र उद्देश्य और मिशन है| जलवायु संकट की वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए तथा जीव-जगत को.....

img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....

img

देसंविवि के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ करते हुए डॉ. पण्ड्या ने कहा - कर्मों के प्रति समर्पण श्रेष्ठतम साधना

हरिद्वार 26 जुलाई।देसंविवि के कुलाधिपति श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या ने विश्वविद्यालय के नवप्रवेशी छात्र-छात्राओं के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ के अवसर पर गीता का मर्म सिखाया। इसके साथ ही विद्यार्थियों के विधिवत् पाठ्यक्रम का पठन-पाठन का क्रम की शुरुआत.....