शांतिकुंज में अंत:ऊर्जा जागरण (मौन साधना) सत्र शृंखला आरंभ

Published on 2017-11-07

साधकों में मातृशक्ति श्रद्धांजलि महापुरश्चरण में भागीदारी के लिए है भारी उत्साह

शांतिकुंज में अंत:ऊर्जा जागरण मौन साधना सत्र १ नवम्बर २०१७ पुन: आरंभ हो गये। प्रथम सत्र की पूर्व संध्या पर आदरणीय श्री वीरेश्वर उपाध्याय जी साधकों को इनकी महत्ता समझायी। उन्होंने कहा कि परमात्मा ने मनुष्य को असीम सामर्थ्य प्रदान की है। यह साधना अपने मन और विचारों को एकाग्र कर उस सामर्थ्य को पहचानने और विकसित करने की साधना है। हमें इस विलक्षण सुयोग का लाभ उठाते हुए अपने इष्ट और अपने गुरु के साथ संबंधों को प्रगाढ़ करना चाहिए। यह संबंध ही साधक को उनके दिव्य संरक्षण व अनुदानों का अधिकारी बनाता है।

मातृशक्ति श्रद्धांजलि महापुरश्चरण में भागीदारी को लेकर लोगों में इस साधना के लिए विशेष उत्साह दिखाई दिया। शांतिकुंज के अंतेवासी भी अंत:ऊर्जा जागरण साधना सत्रों में भाग ले रहे हैं।

सत्र शृंखला २३ मार्च २०१८ तक चलेगी।
तिथियाँ : हर माह १ से ५, ६ से १०, ११ से १५,
१६ से २०, २१ से २५ और २६ से ३०
साधना में भाग लेने के लिए आवेदन तथा विस्तृत जानकारियों लिए संपर्क करें :-
ई- मेल : shivir@awgp.in
मोबाइल : ९२५८३६०७२३, ९२५८३६९७४९

img

तीन दिवसीय राष्ट्रीय प्रतिभाशालियों की प्रशिक्षण शिविर का समापन

सद्गुणों की खेती करना सिखाती है संस्कृतिः डॉ पण्ड्याजीमेधावियों को किया गया सम्मानित, विद्यार्थियों ने कहा- अनमोल है यह सम्मानहरिद्वार, १८ मई।गायत्री परिवार के अभिभावक डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने कहा कि भारतीय संस्कृति सद्गुणों की खेती करना सिखाती है। जिस.....

img

शांतिकुंज पहुँचे विहिप के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष

हरिद्वार, १२ मई।विश्व हिन्दू परिषद के नवनिर्वाचित अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री विष्णु सदाशिव कोकजे गायत्री परिवार प्रमुखद्वय डॉ. प्रणव पण्ड्याजी व शैलदीदीजी से भेंट परामर्श करने प्रातः ८.३० बजे गायत्री तीर्थ शांतिकुंज पहुँचे। यहाँ करीब चालीस मिनट तक चले भेंट में.....

img

ग्रांड मास्टर ऑफ योगा प्रतियोगिता में छाये देसंविवि के विद्यार्थी

ग्रांड मास्टर ऑफ योगा प्रतियोगिता में छाये देसंविवि के विद्यार्थी१३ राज्यों के प्रतिभागियों को पछाड कर प्रथम व तृतीय रहेहरिद्वार, १० मई।प्रगति मैदान दिल्ली में आयोजित ग्रांड मास्टर ऑफ योगा प्रतियोगिता में देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने उत्कृष्ट प्र्रदर्शन करते.....


Write Your Comments Here: