युवा प्रकोष्ठ बिहार द्वारा व्यक्तित्व परिष्कार कार्यशाला , सामूहिक साधना एवं श्रीराम बाल संस्कारशाला भ्रमण

Published on 2017-11-13

नवम्बर माह के दूसरे सप्ताह के दौरान प्रांतीय युवा प्रकोष्ठ बिहार द्वारा, व्यक्तित्व परिष्कार कार्यशाला , सामूहिक साधना एवं प्रार्थना शिविर, संगीत का कार्यक्रम, युवाओं का विशेष उद्बोधन एवं श्रीराम बाल संस्कारशाला भ्रमण का कार्य किया गया।

व्यक्तित्व परिष्कार कार्यशाला की रिपोर्ट:

व्यक्तित्व परिष्कार कार्यशाला के 101वां  बैच का आयोजन पिछले सप्ताह दिनांक 06 नवम्बर से 10 नवंबर 2017 तक किया गया, जिसमें 80 प्रतिभागियों ने भाग लिया। कार्यशाला की कक्षा प्रातः 7 से 8:30 बजे तक एवं संध्या में 4:00 से 5:00 बजे तक चलायी गई।

सामूहिक साधना एवं प्रार्थना शिविर की रिपोर्ट:

आज 12 नवम्बर, 2017 के साप्ताहिक सामूहिक साधना एवं प्रार्थना शिविर के प्रातः कालीन सत्र में लगभग 875 युवाओं की उपस्थिति रही, जिसमें 75 युवा नये थे। सभी युवाओं ने सामूहिक रूप से साधना एवं प्रार्थना करते हुए सद्विचारों का आत्मसात किया। आज के ही संध्याकालीन सत्र (4:00 बजे से 6:00 बजे) में यथावत चला जिसमें 1145 की संख्या में भाई आये,  इसमें 91 भाई पहली बार आये थे।

​संगीत का कार्यक्रम:  सामूहिक ध्यान एवं प्रार्थना के बाद होने वाले संगीत सत्र में एक संगीत “आदत बुरीसुधार लो” बस हो गया भजन........” भाई शशी जी के द्वारा गाया गया।
​​
युवाओं का विशेष उद्बोधन:  
आज  युवा प्रकोष्ठ के प्रतिनिधि श्री अभिषेक कुमार जी ने युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि  आज के समय में अगर सफल होना है, तो अपने आत्मबल को मजूबत बनाना होगा। तभी हम अपने जीवन में सफल हो सकते हैं। आत्मबल के धनी व्यक्ति ही समाज और राष्ट्र को सही दिशा देने में समर्थवान साबित हो सकता है।  

​इनके बाद युवा प्रकोष्ठ के प्रतिनिधि श्री निशांत रंजन जी ने युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि आज के युवा पीढ़ी को संस्कारवान होना चाहिए। आज युवा शिक्षीत तो है लेकिन कहीं न कहीं संस्कार की कमी है और जिसके चलते समाज में कुरीतियाँ पनप रही है। आज लोग भावना विहीन हो गये हैं। आपस में मतभेद बढ़ता जा रहा है। इन सबको संस्कार के माध्यम से ही दूर किया जा सकता है। एक संस्कारी युवा ही समाज की कुरीतियो को दूर कर सकता है।

इनके बाद युवा प्रकोष्ठ के वरिष्ठ प्रतिनिधि श्री मनीष कुमार जी ने अपने संबोधन में कहा कि  आने वाला समय अच्छे लोगों का है। समाज में अच्छे लोगों का सम्मान होगा और बुरे लोगों का समाज से पतन होने जा रहा है। इसलिए अपने-आप को सुधारने की कोशिश करें तभी आप अपने जीवन में सफल हो सकते हैं।  

​श्रीराम बालसंस्कारशाला की रिपोर्ट

प्रांतीय युवा प्रकोष्ठ के द्वारा चलाये जा रहे झुग्गी झोपड़ी इलाके में श्रीराम बालसंस्कारशाला का भ्रमण करने युवा प्रकोष्ठ की मीडिया टीम कल 11 नवंबर 2017 (शनिवार) को श्रीराम बालसंस्कारशाला घघा घाट (महेंद्रु) एवं मुहम्मदपुर भ्रमण करने गयी थी।  उन्होनें वहाँ पढ़ रहे क्रमश: 60, एवं 45 बच्चे और क्रमशः 06 एवं 05  समयदानी आचार्यों से मुलाक़ात की और उनका अनुभव जाना।

img

युवा प्रकोष्ठ, बिहार द्वारा सम्पन्न गतिविधियाँ

मई माह के प्रथम सप्ताह के दौरान प्रांतीय युवा प्रकोष्ठ बिहार द्वारा, समस्तीपुर में youth Expo का आयोजन, सामूहिक साधना एवं प्रार्थना शिविर, संगीत का कार्यक्रम,  युवाओं का विशेष उद्बोधन एवं श्रीराम बाल संस्कारशाला भ्रमण का कार्य किया गया। इन.....


Write Your Comments Here: