Published on 2017-11-15

युवाओं में युग को बदलने की, युग की तमाम समस्याओं का समाधान करने की क्षमता है। लेकिन यह कार्य केवल नारे लगाने और अपने अधिकारों के लिए नित नये आन्दोलन खड़े करने से नहीं हो सकता। इसके लिए युवाओं को सबसे पहले अपने आप को बदलना होगा, एक आदर्श नागरिक का उदाहरण समाज के सामने प्रस्तुत करना होगा।

शांतिकुंज के वरिष्ठ कार्यकर्त्ता आदरणीय श्री वीरेश्वर उपाध्याय जी ने युगऋषि का यह संदेश दिल्ली के युवाओं को दिया। इस अवसर पर उन्होंने युवाओं को भटकावों से उबरने और महानता के लक्ष्य का वरण करने की प्रेरणा दी। वे दिया, दिल्ली द्वारा अटल चौक, वसुंधरा में दीपयज्ञ के साथ आयोजित युवा क्रांति रथ- युवा भारत यात्रा के स्वागत समारोह को संबोधित कर रहे थे।

दिया, नई दिल्ली के सदस्यों ने अपने क्षेत्र में रथ के पहुँचने पर भव्य स्वागत किया। उनके द्वारा किये जाने वाले साप्ताहिक कार्यक्रमों से प्रेरित और प्रभावित होने वाले सैकड़ों कामकाजी, विद्यार्थी नवयुवक और बाल संस्कार शालाओं में पढ़ रहे लगभग २०० बच्चे रथ का स्वागत करने के लिए पहुँचे थे।

रथ के आमगन पर सभी ने उसका मंत्रोच्चार एवं पुष्पार्पण कर भावभरा स्वागत किया। रथ के साथ एक रैली निकालकर तमाम कुरीति, अंध विश्वास, अंध विश्वास, अनास्था से उबरने का समाज को संदेश दिया। रैली का समापन एक सभा में आयोजित दीपयज्ञ के साथ हुआ, जिसमें शांतिकुंज की श्री जयराम मोटलानी, श्री जमना साहू आदि की टोली और गायत्री चेतना केन्द्र, नोएडा के व्यवस्थापक श्री आर.एन. सिंह भी उपस्थित थे।


Write Your Comments Here:



Warning: Unknown: write failed: No space left on device (28) in Unknown on line 0

Warning: Unknown: Failed to write session data (files). Please verify that the current setting of session.save_path is correct (/var/lib/php/sessions) in Unknown on line 0