Published on 2017-11-15
img

लखनऊ। उत्तर प्रदेश

गायत्री ज्ञान मंदिर, इंदिरा नगर द्वारा विभिन्न पुस्तकालयों में युगऋषि के वाङ्मय की स्थापना का अभियान अनवरत चल रहा है। इसी शृंखला में क्रमश: श्रीमती कविता महेन्द्रा के सौजन्य से रजत महिला महाविद्यालय शिक्षा प्रशिक्षण संस्थान गोहिला हंसवर अम्बेडकरनगर में, श्री एस.डी. मिश्रा के सौजन्य से महात्मा गौतमबुद्ध शक्ति विद्यापीठ इ. कॉलेज अंबेडकरनगर में, डॉ. प्रीति गुप्ता के सौजन्य से रजत डिग्री कॉलेज आॅफ एजुकेशन एण्ड ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट चंदनपुर अम्बेडकर नगर में तथा श्रीमती लक्ष्मी पाठक के सौजन्य से रजत एजुकेशन एण्ड मैनेजमेण्ट जाफरगंज अंबेडकरनगर में युगऋषि के समग्र वाङ्मय की स्थापना की गयी।

सभी स्थानों पर गायत्री ज्ञान मंदिर, इंदिरा नगर के व्यवस्थापक श्री उमानंद शर्मा, उनके सहयोगियों तथा शिक्षण संस्थानों के गणमान्यों की उपस्थिति में आयोजित संक्षिप्त समारोहों के साथ यह स्थापनाएँ हुर्इं। वहाँ के शिक्षक, विद्यार्थियों को इस विशिष्ट साहित्य का महत्त्व भी समझाया गया।

इस अभियान के अंतर्गत गायत्री ज्ञान मंदिर लखनऊ द्वारा अब तक २७८ पुस्तकालयों में परम पूज्य गुरुदेव का वाङ्मय स्थापित किया जा चुका है।


Write Your Comments Here:


img

Meeting

Up Jon Gwalior ki meting.....

img

पुरस्कार वितरण समारोह

मुज़फ्फ़रनगर। उत्तर प्रदेश जिले का भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा पुरस्कार वितरण समारोह 11 अगस्त को नौ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ के.....