Published on 2017-11-23

अनेक प्रगतिशील प्रयोग हुए

  • ९८ जोड़ों का सर्वधर्म सामूहिक विवाह संस्कार
  • इको फ्रैण्डली भोजनालय
  • पीहर पेड़ योजना
  • कन्याभ्रूण हत्या रोकने के प्रयास

लखीमपुर-खीरी। उत्तर प्रदेश
लखीमपुर खीरी में स्थानीय मिशननिष्ठ युवाओं की प्रगतिशील सोच के साथ श्रद्धा संवर्धन १०८ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ सम्पन्न हुआ। २६ से २९ अक्टूबर की तारीखों में आयोजित इस महायज्ञ में समाज को लोकमंगल की राह पर बढ़ाने में महत्त्वपूर्ण सफलताएँ मिलीं।

पूर्णाहुति से पूर्व सर्वधर्म सामूहिक विवाह संस्कार सम्पन्न हुआ। ९७ हिन्दू जोड़े एवं १ मुस्लिम जोड़ा परिणय सूत्र बंधन में बँधा। कार्यक्रम सम्पन्न कराने शांतिकुंज से पहुँची श्री परमानंद द्विवेदी की टोली ने विवाह कर्मकाण्ड सम्पन्न कराते हुए उसमें निहित क्रियाओं की मार्मिक प्रेरणाएँ समाज तक पहुँचार्इं, जबकि मुस्लिम जोड़े का निकाह महाराज नगर मस्जिद के मौलाना शमीउद्दीन कासमी ने पढ़ाया।

विवाह समारोह में सांसद श्री अजय मिश्र, विधायक श्री योगेश वर्मा, पुलिस अधीक्षक डॉ. एस. चेनप्पा सहित नगर की अनेक गणमान्य हस्तियाँ गायत्री परिवार की प्रगतिशील परम्पराओं को प्रोत्साहन और वर-वधू को आशीर्वाद प्रदान करने पहुँची थीं। श्री सनातन सेवा समिति ने सभी नवदम्पतियों को गृहोपयोगी वस्तुएँ प्रदान कीं।

पीहर पेड़ योजना : कन्यादान के साथ सभी वधुओं को एक फलदार पेड़ और एक तुलसी की पौध स्थानीय गायत्री परिवार द्वारा अपनायी जा रही नव परम्परा 'पीहर पेड़ योजना' के अंतर्गत तरुपूजन विधान के पश्चात् दी गयी। योजनानुसार कन्या फलदार वृक्ष पौध अपनी स्मृति में अपने पीहर में रोपकर जाती है और तुलसी की पौध को वह अपनी सद्भावनाओं के प्रतीक के रूप में ससुराल में जाकर रोपती है।  

पूर्णाहुति की पूर्व संध्या पर ५१०० दीप महायज्ञ सम्पन्न हुआ। जनपद न्यायाधीश श्री राजबीर सिंह मुख्य यजमान थे। इस अवसर पर युवा प्रकोष्ठ लखीमपुर के अनुपम मौर्य, प्रतिमा वर्मा, गरिमा मौर्य ने कन्या भ्रूण हत्या निषेध पर आधारित भावपरक नृत्य 'ओ री चिरैया ...' का मंचन किया।

इस पूरे यज्ञ में पर्यावरण का विशेष ध्यान रखा गया। भोजनालय में प्लास्टिक का प्रयोग न कर केले के पत्तों और मिट्टी के बर्तनों में भोजन परोसा गया।

वाईडी कॉलेज में वनस्पति विभाग के डॉ. सुनील त्रिपाठी के अनुसार गर्म भोजन जब केले के पत्ते के संपर्क में आता है तो 'मुजीन' नामक रासायनिक पदार्थ निकलता है जो भोजन को विशेष स्वाद प्रदान करता है। पॉलीथीन या थर्मोकॉल के गर्म भोजन के संपर्क में आने पर कैंसर पैदा करने वाले तत्त्व भोजन में मिलते हैं, जिनसे भोजन दूषित और अरुचिकर हो जाता है।


Write Your Comments Here:


img

श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी द्वारा एम फॉर सेवा के नए छात्रावास का उद्घाटन

हरिपुर कलॉ, देहरादून। उत्तराखण्ड स्वामी दयानंद सरस्वती मेरे पितापुल्य मार्गदर्शक थे। उनके तप और वर्तमान संचालक स्वामी हंसानंद जी के.....

img

दक्षिण भारत में देव संस्कृति दिग्विजय अभियान (दिनाँक-२ से ५ जनवरी २०२०)

दक्षिण भारत में अश्वमेध यज्ञों की शृंखला का छठवाँ अश्वमेध गायत्री महायज्ञ हैदराबाद (तेलंगाना) में होने जा रहा है। इससे पूर्व.....

img

डॉ. अमिताभ सर्राफ प्रो. सतीश धवन राज्य सम्मान ‘युवा अभियंता- 2018’ से सम्मानि

बंगलुरू। कर्नाटक गायत्री परिवार बंगलूरू के वरिष्ठ विद्वान कार्यकर्त्ता डॉ. अमिताभ सर्राफ को कर्नाटक सरकार की ओर से ‘प्रो......


Warning: Unknown: write failed: No space left on device (28) in Unknown on line 0

Warning: Unknown: Failed to write session data (files). Please verify that the current setting of session.save_path is correct (/var/lib/php/sessions) in Unknown on line 0