Published on 2017-11-28


NCR/ Ghaziabad 29-11-2017 
NCR के गायत्री परिजनों ने निर्धन कार्यकर्ता की कन्या का विवाह धूमधाम से किया।
पूज्य गुरुवर के पदचिन्हों पर चलते हुए वसुधैव कुटुम्बकम की भावना को चरितार्थ किया राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युगनिर्माणी परिजनों ने।
गुरुदेव ने अनेक अवसरों पर शिष्य साधकों के पुत्र पुत्रियों के विवाह की पूर्ण व्यवस्था स्वयम ही  ली थी,वे सदैव आश्वासन देते रहे, बेटे तुम हमारा काम करो, हम तुम्हारे संकट में साथ खड़े मिलेंगे। ऐसा पढा तो था पर आज के वर्तमान समय में यह सभी ने अपनी आंखों से देखा और दांत तले उंगली दबा ली।
गाजियाबाद प्रताप विहार क्षेत्र की  अत्यंत सक्रिय और वरिष्ठ कार्यकर्ता बहन की पांचवीं और अंतिम कन्या का विवाह दिनांक 29 नवम्बर को तय हो गया था।घर मे कोई भी पुरुष नहीं था, रिटायरमेंट के बाद कोई नौकरी भी नहीं और आर्थिक व्यवस्था भी चरमरा चुकी थी।एक पुत्री के विवाह के बाद घरेलू समस्याएं भी उन्हें दुखी किये पड़ी थी।
विवाह तिथि के एक सप्ताह पूर्व तक वे इसी उधेड़बुन में परेशान असहाय और चिंतामग्न गुरु सत्ता के भरोसे और  अपनी श्रद्धा भक्ति की उम्मीदों पर टिकी थीं ।
जैसा सदैव होता रहा है,गुरुनिष्ठा ने अपना कार्य किया और अज्ञात प्रेरणावश इंदिरापुरम, वसुंधरा, ग़ाज़ियाबाद के कार्यकर्ता बहन भाई सहायता हेतु आगे आने लगे।
ज्ञातव्य हो कि इनबहन ने कन्या के लिए अनेक स्थानों पर दौड़ भाग की , पर उचित समय पर गुरुकृपा से सुयोग्य वर बिना दहेज की मांग के प्राप्त हो गया। दूसरी पुत्री के ससुराल में समस्याएं भी एकाएक ठीक हो गईं,
मात्र 3 दिनों में हीनर सेवा नारायण सेवा,एवं वसुधैव कुटुम्बकम के भाव को चरितार्थ करते हुए गुरुकृपा उन बहन के यहां बरसने लगी।वे भी अचंभे में पड़कर बस गुरुसत्ता का अपनी शिष्य संतानों के प्रति आस्वासन को फलीभूत होते देख गदगद और शब्दरहित थीं।दहेज देने योग्य तो घर में कुछ नही था परकन्यादान के पुण्य कार्य मे किसी ने गोदरेज की अलमारी दी, किसी ने सुंदर नई महंगी साड़ियां, किसी ने 5 थाल, तो किसी ने  राशन,किसी ने फेरे की व्यबस्था तो किसी ने हलवाई किसी ने सिलेंडर  आदि के रूप में छोटे बड़े सभी कार्य बांट लिए।
बहन जी की सभी ने हिम्मत बढ़ाया और मिलजुल कर गायत्री परिजनों ने कन्या का शानदार विवाह संपन्न किया।
इस पवित्र कार्य मेंTCS से श्री अमित गुप्ता और उनके मित्र, Landon TCS से श्री दीपक निगम और उनके मित्र, श्रीमती अंजना, छात्र श्री प्रशांत निगम और उनके मित्र, दिल्ली से  श्रीमती कुसुम, श्रीमती अनुराधा, श्रीमती उमा, श्रीमती अनिता, श्रीमती अरुणा सहित सर्वोदय coed IP extension के समस्त शिक्षकों का स्टाफ, व्यवसायी  श्री योगेश गुप्ता एवम परिवार, बिजनोर से श्रीमती मंजू शर्मा एवम परिवार, श्रीमती प्रज्ञा शुक्ल एवम वसुंधरा, इंदिरापुरम, कौशाम्बी, प्रताप विहार का महिला मंडल, गायत्री परिजन,  कानपुर से श्री vs गुप्ता, TCS से श्री मयंक गुप्ता, श्रीमती मीना सक्सेना, श्रीमती मीनाक्षी, श्रीमती शाज़िया, श्री जितेंद्र, श्रीमती मीनू, श्रीमती रुचि, श्रीमती अंजू, श्रीमती प्रभा, श्रीमती रेनू आदि सहित समाज के प्रत्येक वर्ग के अनेक लोगों ने मिलजुल कर कन्या का शानदार विवाह , महिला संगीत आदि आयोजित किया।प्रशांत और कुछ छात्रों ने अपने pocket money से भी सहयोग किया।अनेक लोगों ने अपना नाम देने से मना किया पर समाज को इससे प्रेरणा मिली।सर्वे भवन्तु सुखिनः के भाव से समाज ने मिलजुल कर इस पवित्र कार्य को सम्पन्न किया।पता ही नहीं चल रहा था कि अनजान लोग आकर एक बिटिया के विवाह में इतना प्रेम क्यों लुटा रहे हैं, जैसे ये उनके अपने बच्चे का विवाह हो।
इससे ये भी स्पष्ट परिलक्षित हुआ कि इंसानियत आज भी लोगों के मनों में है और प्रयास किया जाए तो मदद के लिए ईश्वरीय चेतना सतत सक्रिय है।
गुरुसत्ता की वाणी कि भविष्य में सभी लोग मिलजुलकर प्रेम से सभ्य सुसंस्कृत समाज का निर्माण करेंगे, साक्षात होते दिखाई पड़ी।
सभी के उज्ज्वल भविष्य की कामना,आओ मिलकर समाज का नवनिर्माण करें🌞🙏 I


Write Your Comments Here:


img

धर्म- चेतना के परिष्कार के लिए चल रहा है अत्यंत लोकप्रिय उपक्रम

पुष्कर, अजमेर। राजस्थान विश्वप्रसिद्ध तीर्थ पुष्करराज की पौराणिक गरिमा को अभिनव प्रेरणाओं के साथ पुनर्जाग्रत् करने और तीर्थ को जीवंत.....