Published on 2017-12-02

देश के ११ सेंटरों के ११९ खिलाड़ियों ने की भागीदारी
नार्मोल सेंटर का रहा दबदबा, देवभूमि के खिलाड़ियों ने जीता दिल

हरिद्वार, १९ नवम्बर।
जुडो फेडरेशन ऑफ इंडिया (जेएफआई) का अण्डर- २० का अंतर एसोसिएशन जुडो चैम्पियनशिप- २०१७ का आयोजन हरिद्वार के देवसंस्कृति विश्वविद्यालय शांतिकुंज में हुआ। इसमें हरिद्वार (उत्तराखंड), इंफाल, मणिपुर, अनंतपुर, नार्मोल, मिजोरम, दिल्ली, पं. बंगाल, सोनीपत व कोलकाता सहित कुल ११ सेंटरों के ११९ खिलाड़ियों ने दमखम दिखाया। हरिद्वार के खिलाड़ियों ने अपने खेल व व्यवहार से मेहमानों का दिल जीत लिया।

उत्तराखंड में पहली बार हो रहे अण्डर- २० जूडो चैम्पियनशिप में नार्मोल का दबदबा रहा। प्रतियोगिता में कई खिलाड़ियों के बीच कांटे की टक्कर हुई, तो कइयों ने अपने प्रतिद्वन्द्वी को कुछ ही पलों में पछाड़कर पदक पक्का किया। प्रतियोगिता में कई खिलाड़ियों ने पहली दांव में इपोन (पूरे अंक) लेकर गोल्ड लिया, तो कई खिलाड़ियों ने इपोन के लिए यूको, वजारी को जोड़ते हुए पदक हेतु अपना नाम दर्ज कराया। कइयों ने होल्डिंग टेक्निन के सहारे अपने प्रतिद्वन्द्वी को पछाड़ा।

अलग- अलग भार वर्ग में रविन्द्र -दिल्ली, सनेल्या- नार्मोल, मोनिका- नार्मोल, निकेश- नार्मोल, मोहित- गुरदासपुर ने प्रथम स्थान प्राप्त किया, तो वहीं जतिन सोलंकी- दिल्ली, करनौल सिंह- गुरदासपुर, चौबादेवी- इंफाल, अंशु मलिक- दिल्ली ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। विजयी खिलाड़ियों को ज्वालापुर विधायक श्री सुरेश राठौर, हरिद्वार ग्रामीण विधायक स्वामी यतीश्वरानंद, जुडो महासंघ के जनरल सेक्रेटरी यशवीर सिंह, केरल जुडो एसोशिएशन के अध्यक्ष श्री कुमार, आंध्रप्रदेश जुडो एसोशिएशन के अध्यक्ष वेंकट सेट्ठी, उत्तराखंड जुडो एसोशिएशन के अध्यक्ष एसएस राणा आदि अतिथियों ने सम्मानित किया। देसंविवि के जुड़ो प्रशिक्षक हेमंत कौशिक ने बताया कि इस प्रतियोगिता में जुनियर वर्ग के चैम्पियन आशीष मलिक, विक्रम, कायजोत, कुमार विक्रांत जैसे खिलाड़ियों ने भी दमखम दिखाया। तो वहीं हरिद्वार की तरुण, सोनिया, नंदिनी, तानिया, उमेश आदि ने अपने खेल व व्यवहार से मेहमानों का दिल जीत लिया।

जुडो एसोसिएशन हरिद्वार के अध्यक्ष राजीव शर्मा के अनुसार इस अण्डर- २० नेशनल जूडो चैम्पियनशिप में जुडो में अपने कैरियर संवारने के सपने देख रहे युवाओं ने अपना कौशल दिखाया। इसमें देश भर के ११ सेंटरों की टीम ने प्रतिभाग किया, तो अलग- अलग राज्य के ११ रेफरी ने महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई। जेएफआई के अध्यक्ष श्री मुकेश कुमार, यशवीर सिंह आदि ने खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन किया।


Write Your Comments Here:


img

प्राणियों, वनस्पतियों व पारिस्थितिक तंत्र के अधिकारों की रक्षा हेतु गायत्री परिवार से विनम्र आव्हान/अनुरोध

हम विश्वास दिलाते हैं की जीव, जगत, वनस्पति व पारिस्थितिकी तंत्र के व्यापक हित में उसके अधिकार को वापस दिलवाना ही हमारा एकमात्र उद्देश्य और मिशन है| जलवायु संकट की वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए तथा जीव-जगत को.....

img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....

img

देसंविवि के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ करते हुए डॉ. पण्ड्या ने कहा - कर्मों के प्रति समर्पण श्रेष्ठतम साधना

हरिद्वार 26 जुलाई।देसंविवि के कुलाधिपति श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या ने विश्वविद्यालय के नवप्रवेशी छात्र-छात्राओं के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ के अवसर पर गीता का मर्म सिखाया। इसके साथ ही विद्यार्थियों के विधिवत् पाठ्यक्रम का पठन-पाठन का क्रम की शुरुआत.....