Published on 2017-12-01
img

दरियागंज, कासगंज। उ.प्र.

दयानन्द इण्टर कॉलेज, दरियागंज के मैदान में १०८ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ एवं युवा सम्मेलन का आयोजन सम्पन्न हुआ। इस महायज्ञ में हजारों श्रद्धालुओं ने भाग लेकर यज्ञ भगवान को अपनी आहुतियाँ समर्पित कीं। महायज्ञ का संचालन शांतिकुंंज प्रतिनिधि सर्वश्री अरुण खण्डागले, बसन्तीलाल सोलंकी, मायाचन्द भारद्वाज, हुकुमचन्द व राजाराम की टोली ने किया।

यज्ञ में हजारों श्रद्धालुओं ने भाग लिया, युवाओं का उत्साह देखते ही बनता था। शहरी परिवेश में आपाधापी से भरे जीवन के बीच यज्ञमय वातावरण प्रतिभागियों को खूब भाया। सबने बड़ी उत्सुकता से युग संदेश सुना और अपने जीवन में उतारने के लिए उत्साहित हुए।
 
युवा सम्मेलन : युवा सम्मेलन कार्यक्रम का महत्त्वपूर्ण सत्र था। शांतिकुंज प्रतिनिधियों ने उपस्थित सैकड़ों प्रतिभागियों के समक्ष राष्ट्र की वेदना प्रस्तुत करते हुए उसके समाधान के लिए आगे आने का उत्साह जगाया। नागपुर में आयोजित होने जा रहे राष्ट्रीय सम्मेलन में भाग लेने का आमंत्रण दिया गया। क्षेत्र में रचनात्मक कार्यों को गति देने की योजनाओं पर चर्चा हुई।
 
संस्कार : महायज्ञ में संस्कारों का भी आयोजन किया गया जिसमें १०० दीक्षा सहित कई बच्चों का विद्यारम्भ व मुण्डन आदि संस्कार सम्पन्न कराए गए।

दीपयज्ञ का आयोजन और भी उत्साहवर्धक रहा। इसमें नगर के कई गणमान्यों ने भी सहभागिता कर जीवन को प्रकाशमय बनाने के संकल्प लिए।


Write Your Comments Here:


img

राष्ट्रीय नवसृजन युवा संकल्प समारोह, नागपुर

युगऋषि के श्रीचरणों में समर्पित हुई देश, संस्कृति के लिए तड़पती जवानी१०,००० लोगों की भागीदारी हर प्रांत के लोगों की भागीदारी अमेरिका, कनाडा, इंग्लैण्ड, नेपाल के युवा भी आयेनागपुर। महाराष्ट्रयुवा क्रांति वर्ष २०१६- १७ युग निर्माण आन्दोलन के इतिहास का.....

img

युगसृजेता नगर, परम पूज्य गुरुदेव के सतयुगी सपनों का जीता-जागता स्वरूप

प्रशिक्षण के स्वरूप
• वरिष्ठों के उद्बोधन • आन्दोलनों के प्रारूप
• प्रस्तुतियाँ, समूह चर्चाएँ • कुशल प्रबंधन

माँ उमिया धाम के विशाल मैदान पर २६ से २८ जनवरी की तारीखों में लघु भारत के दर्शन हुए। प्रत्येक व्यक्ति में माँ भारती की.....

img

क्रांति रथ यात्रा में बताया नशा देश के लिए घातक

Guna News in Hindi: : जिले के भ्रमण पर आए गायत्री परिवार के युवा क्रांति रथयात्रा जिले की विभिन्न तहसीलों व गांवों में पहुंचा। जहां यात्रा गायत्री परिजनों व लोगों ने रथ का स्वागत किया। इस दौरान साडा काॅलोनी एवं कस्बे के.....