Published on 2017-12-26

आत्म विश्वास सफलता की कुंजी : डॉ. पण्ड्याजी

हरिद्वार २५ दिसम्बर।
गायत्री परिवार के प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्डयाजी ने कहा कि आत्म विश्वास सफलता की कुंजी है। जिन किन्हीं युवा व प्राणी में जितना आत्म विश्वास होगा, उसका सफलता का प्रतिशत उतना ही अधिक होगा। स्वामी विवेकानंद, पूज्य गुरुदेव पं. श्रीराम शर्मा आचार्य जी आदि में जबरदस्त आत्मविश्वास था, परिणामस्वरूप वे अपने कार्यों को सफलतापूर्वक पूर्ण कर पाते रहे और आज उनके करोड़ों अनुयायी विश्व भर में हैं।

डॉ. पण्ड्याजी शांतिकुंज के नवयुगदल के युवाओं के तीन दिवसीय विशेष शिविर के समापन अवसर पर बोल रहे थे। शिविर में नवयुग दल के वे युवा जो देश-विदेश में राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय कंपनियों, उद्योगपतियों, सरकारी अधिकारियों के रूप में तथा शिक्षा-मीडिया जगत आदि विभिन्न क्षेत्रों में अपनी सेवाएँ दे रहे हैं, शामिल रहे। उन्होंने कहा कि युवाओं में जबरदस्त उत्साह होता है। इन उत्साह को सच्चे अर्थों में अपने दायित्वों को निर्बाध गति से निर्वहन करना तथा अपने सहपाठियों में आत्म विश्वास पैदा करने में लगाये। आप सब शांतिकुंज के दूत हैं। शांतिकुंज के संस्कारों से अपने साथियों को भी लाभान्वित करें। निःस्वार्थ भाव से सेवा करने वालों की ईश्वर भी सहयोग करता है। डॉ. पण्ड्याजी ने कहा कि इन दिनों युवाओं को सकारात्मक दिशा एवं मार्गदर्शन की जरुरत है। देश भर में फैले करोड़ों गायत्री परिजन इस दिशा में सार्थक पहल कर रहा है। आप सब भी कुछ समय समाज के नवनिर्माण के लिए अवश्य निकालें। शांतिकुंज के अभिभावक डॉ. पण्ड्याजी ने युवा पीढ़ी के बीच किये अपने तीन दशक से अधिक के अनुभवों को साझा किया।

इस अवसर पर संस्था की अधिष्ठात्री शैलदीदीजी ने कहा कि शांतिकुंज आप सबका अपना घर है। आप सभी को अपने बीच पाकर मन गद्गद हो जाता है। स्नेह की डोर को सदैव मजबूत बनाये रखना। पीड़ितों व जरूरत मंद लोगों की सेवा करते रहना। समाज व अपने सहपाठियों को आगे बढ़ाने में जितना संभव हो सके, निःस्वार्थ भाव प्रयास करते रहे। यही ईश्वर की कृपा पाने का सबसे सुगम राह है। व्यवस्थापक श्री शिवप्रसाद मिश्र, प्रज्ञा अभियान के संपादक श्री वीरेश्वर उपाध्याय, श्री कपिल केसरी जी, श्री महेन्द्र शर्मा, देसंविवि के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्याजी, रचनात्मक प्रकोष्ठ के समन्वयक श्री केपी दुबे, कुलसचिव श्री संदीप कुमार आदि ने भी युवाओं को विभिन्न विषयों पर मार्गदर्शन किया।

शिविर संयोजक श्री सुशील उपाध्याय, अजय कुमार ने बताया कि इस शिविर में देश-विदेश में बहुराष्ट्रीय कंपनियों, बैंक अधिकारी, मीडिया, शिक्षा, चिकित्सा, उद्योगपतियों सहित कई क्षेत्रों में सेवाएँ प्रदान करे नवयुग दल के युवा शामिल रहे। सभी ने दस से पच्चीस युवाओं को समाज के नवनिर्माण में जुटने के लिए तैयार करने का संकल्प लिया। शिविर में मंजू श्रीवास्तव, अंशुमान दास, रवि नागर, कविता सोनी, मनीष महाजन, ओमप्रकाश ठाकरे, संतोष सिंह, ऋचा मिश्रा, प्रज्ञा शुक्ला आदि प्रमुख रूप से शामिल रहे।


Write Your Comments Here:


img

देसंविवि, शांतिकुंज व विद्यापीठ में हर्षोल्लास के मना स्वतंत्रता दिवस

हरिद्वार 16 अगस्त।देवसंस्कृति विश्वविद्यालय, गायत्री विद्यापीठ व शांतिकुंज ने आजादी के 73वीं वर्षगाँठ के उल्लासपूर्वक मनाया। इस मौके पर देसंविवि व शांतिकुंज में विवि के कुलाधिपति अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या, संस्था प्रमुख श्रद्धेया शैल दीदी.....

img

देसंविवि, शांतिकुंज व विद्यापीठ में हर्षोल्लास के मना स्वतंत्रता दिवस

हरिद्वार 16 अगस्त।देवसंस्कृति विश्वविद्यालय, गायत्री विद्यापीठ व शांतिकुंज ने आजादी के 73वीं वर्षगाँठ के उल्लासपूर्वक मनाया। इस मौके पर देसंविवि व शांतिकुंज में विवि के कुलाधिपति अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या, संस्था प्रमुख श्रद्धेया शैल दीदी.....

img

हरिद्वार 16 अगस्त।देवसंस्कृति विश्वविद्यालय, गायत्री विद्यापीठ व शांतिकुंज ने आजादी के 73वीं वर्षगाँठ के उल्लासपूर्वक मनाया। इस मौके पर देसंविवि व शांतिकुंज में विवि के कुलाधिपति अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या, संस्था प्रमुख श्रद्धेया शैल दीदी.....