भाभा एटोमिक रिसर्च सेण्टर, मुम्बई के वैज्ञानिकों के लिए कार्यशाला

Published on 2018-01-04
img

'तनाव प्रबन्धन के लिए ध्यान'
मुम्बई। महाराष्ट्र

दिया, मुम्बई ने भाभा एटोमिक रिसर्च सेण्टर के वैज्ञानिकों के हितार्थ एक विशिष्ट कार्यशाला 'तनाव प्रबंधन के लिए ध्यान' का आयोजन किया। अणुशक्ति नगर एजुकेशन सोसायटी के स्कूल क्र. ४ में मुक्ताकाश के तारों की छाँव में की गयी ध्यान साधना लोगों को प्राकृतिक ऊर्जा प्रदान करती रही।

कार्यशाला में व्यक्तित्व के विकास, तनाव एवं चिंताओं से मुक्ति के लिए ध्यान के विविध प्रयोग कराये गये। नादयोग एवं योग निद्रा की जानकारी दी गयी, अभ्यास भी कराया गया। गहन आध्यात्मिक ज्ञान और प्रभु की निरंतर कृपा ने वैज्ञानिकों पर गहरा प्रभाव डाला। प्रतिभागीगण ध्यान की गहराई में उतरते और स्व- केन्द्रित होते गहन शांति की अनुभूति करते रहे। श्री एम.जी. केलकर, एसोसिएट डायरेक्टर एचआर एवं श्री एस.जी. भण्डारकर, रिसर्च एण्ड डेवलपमेण्ट एनपीसीआईएल ने अपनी अनुभूतियाँ बतायीं।

इस कार्यशाला के आयोजन में विजय पटले, भावना एवं हितेश जोशी, ज्योति एवं राहुल त्रिपाठी, परशुराम यादव, कृष्णकुमार आदि का महत्त्वपूर्ण सहयोग मिला। युग साहित्य प्रदर्शित किया गया और तुलसी के पौधे बाँटे गये।

दिया के ध्यान समूह की समन्वयक श्रद्धा पटले ध्यान के ऐसे प्रयोग एवं कार्यशालाएँ स्कूल, कॉलेज, औद्योगिक क्षेत्र, हाउसिंग सोसायटी आदि में समय- समय पर कराती रहती हैं। वैज्ञानिकों का एक समूह भी प्रत्येक शुक्रवार को ध्यान का अभ्यास करता है। सभी अभ्यासियों का मानना है कि ध्यान साधना से उन्हें तनाव और चिंताओं से मुक्ति पाने के साथ- साथ नई ऊर्जा की अनुभूति होती है जो उनकी कार्यक्षमता बढ़ाती है।

img

सामूहिक स्वच्छता श्रमदान कार्यक्रम की तैयारी, हर की पौड़ी, हरिद्वार।

हरिद्वार : निर्मल गंगा जन अभियान गंगोत्री से गंगासागर तक गंगा सप्तमी 22 अप्रैल 2018 के उपलक्ष्य में सामूहिक स्वच्छता श्रमदान कार्यक्रम की तैयारी, हर की पौड़ी, हरिद्वार।.....