Published on 2018-01-08
img

युगसृजेताओं की टकसाल में तराशे जा रहे हैं युग निर्माणी

आश्वमेधिक उमंग और युग सृजेता युवा संकल्प समारोह के उत्साह के साथ हुआ वर्ष- 2018 का स्वागत

युगसृजेताओं की छावनी शांतिकुंज में वर्ष- 2018 का स्वागत दुनिया से निराले अंदाज में हुआ। जहाँ दुनिया में नये वर्ष का स्वागत मौज- मस्ती, हो- हल्ला, आतिशबाजियों के साथ होता है, वहीं शांंतिकुंज में परम्पराओं को बदलने, विकृतियों को बुहारने और संस्कृति को उभारने की तैयारियाँ चल रही थीं। नये साल की पूर्व संध्या पर ‘अश्वमेध गायत्री महायज्ञ, मंगलगिरि’ को सम्पन्न कराने आचार्यों की टोलियाँ रवाना हो रही थीं, वहीं ‘युगसृजेता युवा संकल्प समारोह, नागपुर’ की तैयारियाँ भी जोरशोर से चल रही थीं। हर किसी के मन- मस्तिष्क में स्वतंत्रता सेनानियों जैसा उत्साह था। ‘हम बदलेंगे, युग बदलेगा’ के संकल्प के साथ ‘युग परिवर्तन’ के ताने- बाने बुने जा रहे थे।
नववर्ष के प्रथम दिन हजारों श्रद्धालु शांतिकुंज आये। यज्ञशाला की अखण्ड अग्नि में यज्ञ किया, गुरुदेव- माताजी के श्रीचरणों में श्रद्धा- सुमन समर्पित करते हुए अपनी श्रद्धा- सक्रियता को निरंतर प्रगाढ़ करते रहने का आशीर्वाद लिया। श्रद्धेया जीजी एवं श्रद्धेय डॉ. साहब से आशीर्वाद एवं नववर्ष का प्रसाद प्राप्त करने का क्रम कई घंटे चला।


Write Your Comments Here:


img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....

img

देसंविवि के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ करते हुए डॉ. पण्ड्या ने कहा - कर्मों के प्रति समर्पण श्रेष्ठतम साधना

हरिद्वार 26 जुलाई।देसंविवि के कुलाधिपति श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या ने विश्वविद्यालय के नवप्रवेशी छात्र-छात्राओं के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ के अवसर पर गीता का मर्म सिखाया। इसके साथ ही विद्यार्थियों के विधिवत् पाठ्यक्रम का पठन-पाठन का क्रम की शुरुआत.....

img

दे.स.वि.वि. के ज्ञानदीक्षा समारोह में भारत के 22 राज्य एवं चीन सहित 6 देशों के 523 नवप्रवेशी विद्यार्थी हुए दीक्षित

जीवन खुशी देने के लिए होना चाहिए ः डॉ. निशंकचेतनापरक विद्या की सदैव उपासना करनी चाहिए ः डॉ पण्ड्याहरिद्वार 21 जुलाई।जीवन विद्या के आलोक केन्द्र देवसंस्कृति विश्वविद्यालय शांतिकुंज के 35वें ज्ञानदीक्षा समारोह में नवप्रवेशार्थी समाज और राष्ट्र सेवा की ओर.....