नैतिक मूल्यों और सामाजिक कर्त्तव्यों के प्रति जागरूक हो रहा है समाज

Published on 2018-02-01
img

अल्मोड़ा जिले की आँगनबाड़ी कार्यकत्रियों का गर्भोत्सव प्रशिक्षक प्रशिक्षण शिविर सम्पन्न

३० सुपरवाइज़र्स ने लिए प्रशिक्षण
प्रत्येक के साथ १०० आँगनबाड़ी कार्यकत्री और सहायिका बहनें काम करती हैं
टिहरी और हरिद्वार की आंगनबाड़ी सुपरवाइजर्स भी ले चुकी हैं प्रशिक्षण

शांतिकुंज, हरिद्वार। उत्तराखंड
उत्तराखंड सरकार के महिला एवं बाल विकास विभाग के अधीन अल्मोड़ा में कार्यरत आंगनबाड़ी सुपरवाइजर्स का बाल संस्कार शाला एवं गर्भोत्सव प्रशिक्षक प्रशिक्षण शिविर दिनांक ६ से १० जनवरी की तारीखों में शांतिकुंज में सम्पन्न हुआ। इसमें अभियान प्रभारी डॉ. गायत्री शर्मा सहित विविध वक्ताओं ने स्वास्थ्य, संस्कार, विचार, व्यवहार संबंधी विषयों पर उनकी कक्षाएँ लीं। वीडियो और पावर पॉइण्ट प्रेज़ेण्टेशन के साथ गर्भस्थ शिशु के विकास के विविध चरण और उन्हें प्रभावित करने वाले कारणों से अवगत कराया गया। नन्हे शिशुओं के समग्र विकास की विधियों पर भी चर्चा हुई।

शिविर समापन पर शांतिकुंज प्रतिनिधि श्रीमती शेफाली पण्ड्या ने सभी प्रतिभागियों को प्रमाणपत्र दिये। ये सुपरवाइजर्स अपने अधीनस्थ आँगनबाड़ी कार्यकर्त्ताओं और सहायिकाओं को प्रशिक्षित करेंगी। उल्लेखनीय है कि प्रत्येक सुपरवाइजर के आधीन ५० से ६० कार्यकत्री और उतनी ही सहायिकाएँ कार्य करती हैं।

अल्मोड़ा से पहले टिहरी और हरिद्वार जिले की आँगनबाड़ी सुपरवाइजर्स का प्रशिक्षण शिविर भी शांतिकुंज में सम्पन्न हो चुका है। अगले क्रम में उत्तराखंड के शेष जिलों की आँगनबाड़ी सुपरवाइजर्स को भी प्रशिक्षित किया जायेगा।

img

मई माह के तीसरे सप्ताह के दौरान प्रांतीय युवा प्रकोष्ठ, बिहार द्वारा सम्पन्न गतिविधियाँ

मई माह के तीसरे सप्ताह के दौरान प्रांतीय युवा प्रकोष्ठ बिहार द्वारा, श्रीराम बालसंस्कारशाला बहादुरपुर में वार्षिकोत्सव का आयोजन, सामूहिक साधना एवं प्रार्थना शिविर, संगीत का कार्यक्रम एवं युवाओं के विशेष उद्बोधन का कार्य किया गया। इन कार्यक्रमों की विस्तृत.....

img

युवा प्रकोष्ठ, बिहार द्वारा सम्पन्न गतिविधियाँ

मई माह के प्रथम सप्ताह के दौरान प्रांतीय युवा प्रकोष्ठ बिहार द्वारा, समस्तीपुर में youth Expo का आयोजन, सामूहिक साधना एवं प्रार्थना शिविर, संगीत का कार्यक्रम,  युवाओं का विशेष उद्बोधन एवं श्रीराम बाल संस्कारशाला भ्रमण का कार्य किया गया। इन.....


Write Your Comments Here: