Published on 2018-02-21
img

युग सृजेता युगऋषि के अभियान को समर्पित युवाओं के समर्पण, कौशल, प्रतिबद्धता की गाथा थी। पूरे देश के नैष्ठिक कार्यकर्त्ताओं ने एक माह से लेकर १० दिन पहले कार्यक्रम स्थल पर पहुँचकर अहर्निश श्रम कर जो व्यवस्थाएँ की थीं वे आदर्श थीं, दर्शनीय थीं। श्री सत्यनारायण नुवाल एवं डॉ. विनय हजारे आयोजक मण्डल में प्रमुख थे। आयोजन के लिए स्थान प्रदान करने वाले माँ उमिया धाम के अध्यक्ष श्री जीवराजभाई पटेल आज के युग में इस नि:स्वार्थ सेवा- समर्पण के भाव को देखकर हतप्रभ थे। आयोजन समिति की सदस्या श्रीमती रेखा बजाज ने पास ही अपनी निर्माणाधीन फैक्टरी में एक लाख वर्ग फीट का शेड आवास व्यवस्था के लिए उपलब्ध करा दिया था। इसमें ५० ७ ५० फीट के विभाजन कर ४००० कार्यकर्त्ताओं के ठहरने की व्यवस्था एक ही शेड के नीचे की गयी। प्रतिष्ठित समाजसेवी श्री गिरीश गाँधी तो पूरे कार्यक्रम में एक नैष्ठिक कार्यकर्त्ता की तरह सक्रिय रहे।

इस आयोजन में नागपुर और महाराष्ट्र के विविध क्षेत्रों से आयी १००- १५० बहनों ने अविस्मरणीय योगदान दिया। एक माह पहले ही वे शबरी की भाँति कार्यक्रम स्थल की ऊबड़- खाबड़ जमीन को ठीक कर साफ- सुंदर करने में दिन भर जुटी रहीं।

शांतिकुंज प्रतिनिधि सर्वश्री के.पी. दुबे, गंगाधर चौधरी, आशीष सिंह, सदानंद आंबेकर, योगेश पटेल के साथ स्थानीय प्रमुख कार्यकर्त्ता बंडु मेश्राम, जितेन्द्र भकने तथा प्रतिष्ठित गणमान्य संजय काले, आनंद अग्रवाल, विकास शर्मा, रूपचंद गोपलानी, जीतेश, राजाराम राय आदि अपना व्यवसाय छोड़कर लगभग डेढ़ माह तक कार्यक्रम स्थल और आवासीय क्षेत्र में बिजली, पानी, शौचालय, स्नानागार के निर्माण जैसी व्यवस्थाएँ सँभालते रहे, यह उनकी युगदेवता को बड़ी श्रद्धांजलि है। पानी की व्यवस्थाओं के लिए शांतिकुंज से अभियंता श्री जयसिंह यादव पहुँचे थे।

आवास : आवास व्यवस्था की तैयारियाँ झारखंड और महाराष्ट्र की टीम ने की तो महिला आवास की व्यवस्था श्रीमती सुनीति दीक्षित व पुरुष आवास की व्यवस्था श्री दीपक बिडवई द्वारा सँभाली गयी। ४०० ७ २५० फीट के विशाल पाण्डाल की व्यवस्थाएँ कल्पना बिसेन के मार्गदर्शन में नागपुर और गोंदिया की बहनों ने की।

पंजीयन: २४ घंटे में १०००० लोगों का पंजीयन कर आवास व्यवस्था करना एक बड़ी चुनौती थी। श्री आशीष श्रीवास्तव के साथ चंद्रपुर, पुणे और नागपुर की दिया टीम ने इसे कार्य को बखूबी पूरा किया।

सुरक्षा : बागपत के श्री उदय सिंह चौहान, मलखान सिंह और बुलढाणा, पटना के कार्यकर्त्ताओं ने सुरक्षा व्यवस्था सँभाली।

भोजनालय : भोजनालय की व्यवस्था इतनी सुंदर थी कि बिना कोई प्रतीक्षा किये या लाइन लगाये १०००० लोग मात्र एक से डेढ़ घंटे में भोजन प्राप्त कर लेते थे और अपने निर्धारित कार्यक्रमों में समय पर पहुँच जाते थे। इस व्यवस्था को मुम्बई के श्री मनुभाई पटेल, नाशिक के श्री अमृतभाई एवं नागपुर की श्रीमती जयश्री काले ने सँभाला था।

स्वच्छता :
पूरे कार्यक्रम परिसर की स्वच्छता ने लोगों का विशेष रूप से ध्यानाकर्षित किया। ५०० पक्के शौचालय, स्नानागार बनाये गये थे, लेकिन कहीं भी गंदगी या बदबू नहीं थी। हर स्नानागार में और जगह- जगह कूड़ेदान थे, पानी के निस्तारण की सुंदर व्यवस्था थी। स्वच्छता की इतनी सुंदर व्यवस्था अनिल फुके एवं अमित अग्रवाल के मार्गदर्शन में की गयी थी।

कार्यकर्त्ता समन्वय :
पूरे कार्यक्रम में झाँसी के श्री श्याम किशोर गोयल और उड़ीसा के सेवा निवृत्त फौजी श्री रविंद्र गौड़ आसमान में अलग नक्षत्र की तरह चमकते दिखाई दिये। जहाँ भी आवश्यकता हुई, वहीं पहुँच कर कार्यकर्त्ताओं के नियोजन, समन्वय, संपर्क में उन्हें सबसे आगे देखा गया।


Write Your Comments Here:


img

anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री मंत्र और गायत्री माँ के चम्त्कार् के बारे मैं बताया

मैं यशवीन् मैंने आज राजस्थान के barmer के बालोतरा मैं anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री माँ के बारे मैं बच्चों को जागरूक किया और वेद माता के कुछ बातें बताई और महा मंत्र गायत्री का जाप कराया जिसे आने वाले.....

img

युग निर्माण हेतु भावी पीढ़ी में सुसंस्कारों की आवश्यकता जिसकी आधारशिला है भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा -शांतिकुंज प्रतिनिधि आ.रामयश तिवारी जी

वाराणसी व मऊ उपजोन की *संगोष्ठी गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी के पावन प्रांगण में संपन्न* हुई।जहां ज्ञान गंगा की गंगोत्री,*महाकाल का घोंसला,मानव गढ़ने की टकसाल एवं हम सभी के प्राण का केंद्र अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज,हरिद्वार* से पधारे युगऋषि के अग्रज.....

img

Yoga Day celebration

Yoga day celebration in Dharampur taluka district ValsadGaytri pariwar Dharampur.....