Published on 2018-02-22
img

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की धर्मपत्नी की श्रीमती शिबा के अनुरोध और सहयोग से शांतिकुंज ने की पहल

हरिद्वार के सुप्रसिद्ध तीर्थस्थल हर की पैड़ी पर २४ जनवरी को शांतिकुंज द्वारा ५ कुण्डीय गायत्री यज्ञ का आयोजन किया गया। इसमें इस क्षेत्र में झुग्गी, पटरियों पर छोटे- मोटे काम करने वाले गरीबों और भीख माँगने वाले गरीब परिवारों के लोगों और बच्चों ने भाग लिया। कार्यक्रम का आयोजन वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री कृष्णकुमार जी की पत्नी श्रीमती शिवा द्वारा इस क्षेत्र के उन गरीब बच्चों के हितार्थ आरंभ किये गये प्रयासों के अन्तर्गत किया गया था, जो अपनी गरीबी, अशिक्षा एवं संस्कारों के अभाव में भीख माँगने का पेशा अपनाते जा रहे था।

श्रीमती शिबा ने कुछ महीनों पहले इन बच्चों को शिक्षित एवं संस्कारवान बनाने के लिए शांतिकुंज से सहयोग की माँग की। शांतिकुंज के व्यवस्थापक श्री शिवप्रसाद मिश्रा ने सहर्श सहयोग की व्यवस्था बनायी। वहाँ दैनिक बाल संस्कारशाला आरंभ हो गयी। शान्तिकुञ्ज के प्रशिक्षकों और पुलिस तथा आंगनबाड़ी की कार्यकर्त्ताओं ने मिलकर प्रतिदिन प्रार्थना,योग, खेल, कहानियों एवं अक्षर ज्ञान के माध्यम से उनका जीवन बदलना आरंभ कर दिया।

२५- ३० बच्चों से प्रारम्भ हुई कक्षाओं में क्रमश: बच्चे बढ़ते गये और उनकी संख्या १३०- १४० तक पहुँच गयी। शान्तिकुञ्ज ने बच्चों की भोजन व्यवस्था भी की। बीच- बीच में स्वच्छता का पाठ पढ़ाया, बच्चों की बाल कटाई, डॉक्टरी जाँच तथा नहाने- स्वच्छ रहने का व्यावहारिक ज्ञान भी दिया।

श्रीमती शिवा की पहल रंग लाई। इनमें से अनेक बच्चों को हरिद्वार के विभिन्न स्कूलों ने अपने स्कूल तथा छात्रावास में स्थान दे दिया है। बच्चों में आये बदलाव को देखकर कई सेवाभावी सज्जन एवं संस्थाओं ने सहयोग करते हुए कपड़े, स्वेटर, बस्ते, कॉपी- पुस्तक, स्लेट आदि प्रदान किये। जिला शिक्षा अधिकारी ने बच्चों हेतु मिड डे मील की भी व्यवस्था बना दी।

अभिभावकों को स्वावलम्बी बनायेंगे

अब श्रीमती शिबा ने शान्तिकुञ्ज के विचार- विमर्श कर इन बच्चों के माता- पिता को भी संस्कारवान और स्वावलम्बी बनाने की नई योजना तैयार की। २४ जनवरी के गायत्री यज्ञ से इसी का शुभारंभ हुआ। यज्ञ में १२० से अधिक अभिभावकों ने भाग लिया। उन्हें की स्वावलम्बन योजनाओं और उत्पादों की जानकारी दी गयी। इन्हें सीखने के लिए शान्तिकुञ्ज लाने, प्रशिक्षण देने, भोजन- आवास की व्यवस्था करने का आश्वासन दिया गया।


Write Your Comments Here:


img

anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री मंत्र और गायत्री माँ के चम्त्कार् के बारे मैं बताया

मैं यशवीन् मैंने आज राजस्थान के barmer के बालोतरा मैं anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री माँ के बारे मैं बच्चों को जागरूक किया और वेद माता के कुछ बातें बताई और महा मंत्र गायत्री का जाप कराया जिसे आने वाले.....

img

युग निर्माण हेतु भावी पीढ़ी में सुसंस्कारों की आवश्यकता जिसकी आधारशिला है भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा -शांतिकुंज प्रतिनिधि आ.रामयश तिवारी जी

वाराणसी व मऊ उपजोन की *संगोष्ठी गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी के पावन प्रांगण में संपन्न* हुई।जहां ज्ञान गंगा की गंगोत्री,*महाकाल का घोंसला,मानव गढ़ने की टकसाल एवं हम सभी के प्राण का केंद्र अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज,हरिद्वार* से पधारे युगऋषि के अग्रज.....

img

Yoga Day celebration

Yoga day celebration in Dharampur taluka district ValsadGaytri pariwar Dharampur.....