Published on 2018-02-28

विजयी खिलाडियों को कुलाधिपति डॉ. पण्ड्याजी ने किया सम्मानित
तीन दिवसीय उत्सव- १८ में कुल ५० प्रकार की आयोजित हुई प्रतियोगिताएँ

हरिद्वार २८ फरवरी।
देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के १६वाँ वार्षिकोत्सव का पुरस्कार वितरण एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ समापन हो गया। इस अवसर पर कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने प्रतिभागियों की खेल भावना को सराहा। विभिन्न प्रतियोगिताओं में प्रथम, द्वितीय आये छात्र- छात्राओं को उन्होंने प्रशस्ति पत्र एवं मेडल भेंटकर सम्मानित किया। इस अवसर पर कुलाधिपति डॉ. पण्ड्याजी ने कहा कि शारीरिक व बौद्धिक प्रतियोगिता का सम्मिश्रण ने युवाओं में उत्साह जगाया है।

खेल अधिकारी श्री नरेन्द्र सिंह व विक्रांत वाधवा ने कहा कि खेलकूद के अंतर्गत छात्र- छात्राओं ने भी अपना दमखम दिखाया। उत्सव में कुल ५० प्रकार प्रतियोगिताएँ आयोजित की गयीं। छात्र वर्ग के सौ व दो सौ मीटर दौड में करनसिंह, ४ सौ मीटर में अतुल यादव, ८ सौ मीटर में आयान सिंह ने बाजी मारी। कबड्डी, बॉलीबाल, बास्केटबॉल व बैण्डमिटन (युगल) में बीएससी ने छात्रों ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। कुश्ती के विभिन्न भारवर्ग में विद्याभूषण, योगेश्वर, सुमित, हर्षवर्धन, हरिमोहन ने प्रथम रहे, तो वहीं शुभम, सुशांत, आसूतोष, अरुणेन्द्र, मृत्युजंय को द्वितीय स्थान मिला। लंबी कूद में ५.९५ मीटर की दूरी के साथ करनसिंह ने पहला तथा ५.०२मीटर के साथ यशकुमार को दूसरा स्थान मिला। ऊँचीकूद में अनिकश को पहला व देवशीष को दूसरा स्थान मिला। गोला फेंक में कृष्ण प्रताप, डिस्कस थ्रो में आलोक यादव, जेवलिन में अरुण तथा हेमर थ्रो में कृष्ण प्रताप को प्रथम घोषित किया गया।

छात्रा वर्ग के सौ, २ सौ व ४ सौ मीटर दौड़ में प्राची अग्रवाल ने प्रथम तथा निधि ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। बॉस्केट बाल में बीसीए की टीम विजयी घोषित हुई। बॉलीबाल में श्वेता की टीम ने प्रथम व निधि की टीम को दूसरा स्थान मिला। लंबी कूद में स्वाति ने पहला तथा शिल्पा को दूसरा स्थान मिला। ऊँची कूद में स्वाति को पहला व तनिया को दूसरा स्थान प्राप्त हुआ। गोलाफेंक में श्वेता शेखावत व अंकिता को क्रमशः पहला व दूसरा स्थान मिला। स्क्रिप्ट लेखन में श्वेता शेखावत ने बाजी मारी। पॉवर लिफ्टिंग, वेट लिफ्टिंग, आर्म रेसलिंग, जूडो, रेसलिंग में भी विद्यार्थियों ने हूनर दिखाये।

सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के प्रभारी डॉ. शिवनारायण प्रसाद ने बताया कि इस वर्ष शास्त्रीय संगीत, डॉस, क्वीज प्रतियोगिताओं में प्रतिभागियों ने अपनी कला, कौशल का जबरदस्त प्रदर्शन किया। उत्सव- १८ में अधिकतर छात्र- छात्राओं ने अपने साथियों के हार को जीत में बदल दिया।

समापन समारोह में राष्ट्रीय भक्ति से ओतप्रोत लघुनाटिका का मंचन किया गया जिसे दर्शकों ने खूब सराहा। वहीं वर्तमान में नारी जागरण की आवश्यकता पर बल देते हुए सामूहिक नृत्य ने सभी को रोमांचित किया। युवाओं को अपनी जवानी संभालने एवं निष्कृष्ट विचारों से दूर रहने की प्रेरणा देने वाले संगीत ने युवाओं को नई दिशा दी। इस अवसर पर कुलपति श्री शरद पारधी, प्रतिकुलपति डॉ चिन्मय पण्ड्याजी, कुलसचिव श्री संदीप कुमार, विभागाध्यक्ष सहित विश्वविद्यालय व शांतिकुंज परिवार एवं ब्रह्मवर्चस शोध संस्थान के कार्यकर्ता उपस्थित रहे।


Write Your Comments Here:


img

गुरु पूर्णिमा पर्व प्रयाज

गुरु पूर्णिमा पर्व पर online वेब स्वाध्याय के  कार्यक्रम इस प्रकार रहेंगे समस्त कार्यक्रम freeconferencecall  मोबाइल app से होंगे ID : webwsadhyay रहेगा 1 गुरुवार  ७ जुलाई २०२२ : कर्मकांड भास्कर से गुरु पूर्णिमा.....

img

ऑनलाइन योग सप्ताह आयोजन द्वादश योग :गायत्री योग

परम पूज्य गुरुदेव द्वारा लिखित पुस्तक  गायत्री योग, जिसके अंतर्गत द्वादश योग की चर्चा की गई है, का ऑनलाइन वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से पांच दिवसीय कार्यक्रम आयोजित किया गया| इस कार्यक्रम में विशेष आकर्षण वीडियो कांफ्रेंस.....

img

गृह मंत्री अमित शाह बोले- वर्तमान एजुकेशन सिस्टम हमें बौद्धिक विकास दे सकता है, पर आध्यात्मिक शांति नहीं दे सकता

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि हम उन गतिविधियों का समर्थन करते हैं जो हमारे देश की संस्कृति और सनातन धर्म को प्रोत्साहित करती हैं। पिछले 50 वर्षों की अवधि में, हम हम सुधारेंगे तो युग बदलेगा वाक्य.....