Published on 2018-03-03
img

बूँदी। राजस्थान

गायत्री शक्तिपीठ बूँदी में पूज्य गुरुदेव का आध्यात्मिक बोध दिवस युग चेतना के प्रवाह को नवगति देने की उमंगों के साथ मनाया गया। इस अवसर पर १०८ शक्ति कलशों का विशेष पूजन कर उन्हें घर- घर लेजाने, उनके समक्ष सामूहिक साधना- अनुष्ठान का अनवरत क्रम चलाने की योजना का शुभारंभ हुआ। मातृशक्ति श्रद्धांजलि महापुरश्चरण के निमित्त प्रांतीय निर्धारणों के अंतर्गत यह साधना अभियान आरंभ किया गया है।

देवालय प्रबंधक श्री शम्भू खत्री ने पर्व संदेश दिया। व्यवस्थाक श्री सुरेश विजयवर्गीय सहित अनेक कार्यकर्त्ताओं ने कार्यक्रम में भाग लेते हुए युगनिर्माणी आस्थाओं को नवगति प्रदान की।


Write Your Comments Here:


img

गुण, कर्म, स्वभाव का परिष्कार करने वाली विद्या को प्रोत्साहन मिले। श्रद्धेय डॉ. प्रणव जी

देव संस्कृति विश्वविद्यालय का 35वाँ ज्ञानदीक्षा समारोह 21 जुलाई 2019 को कुलाधिपति श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी की अध्यक्षता में.....

img

शिक्षण संस्थानों में परिचय के नाम पर उत्पीड़न नहीं, विद्यारंभ संस्कार होना चाहिए

देव संस्कृति विश्वविद्यालय के 35वें ज्ञानदीक्षा समारोह में केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री का संदेश   यह ज्ञानदीक्षा समारोह जीवन के.....

img

तीर्थनगरी हरिद्वार में पाँच कार्यक्रम हुए शान्तिकुञ्ज के वरिष्ठ प्रतिनिधियों ने दिये प्रभावशाली संदेश

हरिद्वार। उत्तराखंड तीर्थ नगरी हरिद्वार में श्री आर.डी. गौतम एवं उनके सहयोगियों के प्रयासों से पाँच स्थानों पर गुरुपूर्णिमा.....