Published on 2018-03-03
img

देश में जागा नवउल्लस
'युग सृजेता' नवसृजन युवा संकल्प समारोह ने देश की तरुणाई में सृजन क्रांति का नव उल्लास जगाया है। अपना गायत्री परिवार होली पर अस्वच्छता- अश्लीलता निवारण के लिए हर वर्ष बड़े जोश और उल्लास के साथ आन्दोलन चलाता रहा है। इस वर्ष संगठित प्रयासों से कुछ नये- नये प्रयोग करने और बृहद स्तर पर आन्दोलन चलाने के समाचार मिल रहे हैं।
आदर्श परम्पराओं के साथ मनाये हँसी, खुशी, मस्ती का त्यौहार

शांतिकुंज- देसंविवि की आदर्श होली
होली मलीनता मिटाने, प्रेमभाव बढ़ाने का पर्व है। शांतिकुंज और देव संस्कृति विश्वविद्यालय में इसी भाव से आदर्श परम्पराओं के साथ यह पर्व मनाया जाता है। यहाँ कुलाधिपति जी एवं समस्त आचार्य सभी विद्यार्थियों के साथ प्रेमभाव से फूलों की होली खेलते हैं। शांतिकुंज में भी ईको- फ्रैण्डली रंग, अबीर- गुलाल के साथ सूखी होली खेली जाती है। हँसी- खुशीभरे मंचीय कार्यक्रम एवं कवि सम्मेलन होते हैं। (समाचार अगले अंक में देखें)

ध्यान रखने योग्य कुछ बातें
• अश्लील चित्र, साहित्य की होली जलायें।
• फूहड़ गाने, शोर, उद्दण्डता, भाँग आदि नशों से बचें।
• स्वास्थ्य के लिए हानिकारक जहरीले रसायनों वाले रंगों से नहीं, प्राकृतिक रंगों से होली खेलें।
• होलिका में कूड़ा- कचरा, अवांछनीयता का दहन हो, पेड़ों को कटने से बचायें।
• जल ही जीवन है, इसे बर्बाद न होने दें।
• गुब्बारों से अनेक बार गहरी चोट लग जाती है, इससे बचें।


Write Your Comments Here:


img

dqsdqsd

sqsqdsqdqs.....

img

sqdqsdqsdqsd.....

img

Op

gaytri shatipith jobat m p.....