Published on 2018-03-08
img

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना : जीवन के उत्थान के लिए अनेक स्थानों पर बने सुयोग
युवा प्रकोष्ठ द्वारा गाँव- गाँव रैलियों और महाविद्यालयों में सभाएँ

निघासन, खीरी लखीमपुर। उ.प्र.
सामाजिक उत्कर्ष के लिए समर्पित गायत्री परिवार लखीमपुर की युवा इकाई इन दिनों 'मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना' के प्रति जागरूकता का जनपदव्यापी अभियान चला रही है। गरीब परिवारों को इस योजना का लाभ उठाने के साथ समाज में आदर्श विवाहों के प्रचलन को बढ़ाने का प्रयास भी किया जा रहा है। लोगों को धनबल के आधार पर 'विवाहोन्माद' के कारण समाज को होने वाले आर्थिक, सामाजिक नुकसान की जानकारी दी जा रही है। जनपद में सामूहिक विवाह का यह कार्यक्रम २७ मार्च २०१८ को राजकीय इण्टर कॉलेज, लखीमपुर में आयोजित हो रहा है।इस जागरूकता अभियान के अंतर्गत जागरूक बहनों द्वारा रैलियाँ और महाविद्यालयों में सभाएँ आयोजित की जा रही हैं। विद्यार्थियों के माध्यम से योजना की जानकारियाँ घर- घर पहुँचायी जा रही हैं। इसके अंतर्गत द्वारिका प्रसाद गायत्री इण्टर कॉलेज, निघासन में सभा हुई। सिंगाही, बेलरायाँ, अयोध्या पुरवा, नौरंगाबाद, मझिली पुरवा, चौधरी पुरवा में भी जनसभाएँ की गयीं। पलिया ब्लॉक के नकहिया, नौगवाँ, पलिया खुर्द, बड़ागाँव, भीरा आदि के विद्यालयों, मंदिरों में जनसभाएँ की गयीं और रैलियाँ निकाली गयीं।

इस अभियान में अनुराग मौर्य, कुलदीप वर्मा, प्रवीण वर्मा, दयाशंकर मौर्य, कमलेश कुमार वर्मा, त्रिगुणी नारायण, लक्ष्मीनारायण वर्मा आदि सक्रिय रहे।


Write Your Comments Here:


img

11 जनवरी, देहरादून। उत्तराखंड ।

दिनांक 11 जनवरी 2020 की तारीख में देव संस्कृति विश्वविद्यालय शांतिकुंज हरिद्वार के प्रतिकुलपति आदरणीय डॉक्टर चिन्मय पंड्या जी देहरादून स्थित ओएनजीसी ऑडिटोरियम में उत्तराखंड यंग लीडर्स कॉन्क्लेव 2020 कार्यक्रम में देहरादून पहुंचे जहां पर उन्होंने उत्तराखंड राज्य के विभिन्न.....

img

ज्ञानदीक्षा समारोह में लिथुआनिया सहित देश के 12 राज्यों के नवप्रवेशी विद्यार्थी हुए दीक्षित

देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ प्रणव पण्ड्या ने कहा कि जो आचरण से शिक्षा दें वही आचार्य है और ऐसे आचार्यगण ही विद्यार्थियों को चरित्रवान बना सकते हैं। डॉ. पण्ड्या ने कहा कि जिस तरह चाणक्य ने अपने ज्ञान व.....

img

ञानदीक्षा समारोह में लिथुआनिया सहित देश के 12 राज्यों के नवप्रवेशी विद्यार्थी हुए दीक्षित

देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ प्रणव पण्ड्या ने कहा कि जो आचरण से शिक्षा दें वही आचार्य है और ऐसे आचार्यगण ही विद्यार्थियों को चरित्रवान बना सकते हैं। डॉ. पण्ड्या ने कहा कि जिस तरह चाणक्य ने अपने ज्ञान व.....