Published on 2018-03-09

श्रद्धा संवर्धन गायत्री महायज्ञ में आयोजित हुआ युवा सम्मेलन
बेमेतर। छत्तीसगढ़

१० फरवरी को बेमेतरा जिले के बदनारा एवं १४ फरवरी को थान खम्हरिया में २४ कुण्डीय यज्ञ सम्पन्न हुए। दिव्य भारत संघ छत्तीसगढ़ ने इनमें युवा सम्मेलन का आयोजन करते हुए प्रत्येक में हजारों युवाओं को अपना भविष्य भविष्य सँवारने और अपनी समस्याओं का समाधान स्वयं करने कि प्रेरणा दी।

दिया, छत्तीसगढ़ के संयोजक डॉ। पी. एल. साव तथा डॉ. योगेन्द्र कुमार ने देश के ५२ प्रतिशत युवाओं के नशे के चुंगल में फँसे होने पर गहरी चिंता व्यक्त की, उन्हें आध्यात्मिक जीवन जीते हुए आत्मबल, आत्मविश्वास बढ़ाने कि प्रेरणा दी। डॉ. साव ने खा कि अवसर की तलाश में भटकने वाला नहीं, सही मायनों में युवा वही है जो अपनी प्रतिभा से अपना भाग्य स्वयं सँवारता है।

स्वामी विवेकानन्द के सूत्र 'बी एण्ड मेक' की मार्मिक व्याख्या हुई। मिशन के सृजनात्मक आन्दोलनों की जानकारी देकर श्रोताओं को आत्म निर्माण एवं समाज निर्माण के संकल्प कराये गये। सुश्री तिलोत्तमा मुदली ने नारी शक्ति में परम्पराओ से उबरकर समाज निर्माण में सृजनात्मक योगदान देने की प्रेरणा दी

महाविधालय में दो दिवसीय कार्यशाला
अम्बिकापुर, सरगुजा। छत्तीसगढ़

गायत्री शक्तिपीठ अम्बिकापुर द्वारा संत हरकेवलदस बी. एड. महाविद्यालय में दो दिवसीय कार्यशाला आयोजित की गई। युवा प्रकोष्ठ प्रमुख प्रदीप शर्मा। लक्ष्मी सिंह, अमृता जायसवाल, शांति सिंह आदि ने परम पूज्य गुरूदेव के विचारों पर आधारित तनावमुक्त सहज जीवन जीने के लिए बहुविध मार्गदर्शन दिया। उन्होंने कहा कि शिक्षकों पर देश के भविष्य को सँवारने की जिम्मेदारी है, अत: आपको केवल पढ़ने और डिग्री प्राप्त करने के ही नहीं, बल्कि आध्यात्मिक जीवन शैली अपनाकर अपने विचार और संस्कारों के परिष्कार के भरपूर प्रयास भी करने चाहिए। विद्यार्थियों को युगऋषि पं। श्रीराम शर्मा आचार्य जी के क्रांतिकारी विचारों के निरंतर सान्निध्य में रहने के लिए प्रेरित किया गया।


Write Your Comments Here:


img

anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री मंत्र और गायत्री माँ के चम्त्कार् के बारे मैं बताया

मैं यशवीन् मैंने आज राजस्थान के barmer के बालोतरा मैं anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री माँ के बारे मैं बच्चों को जागरूक किया और वेद माता के कुछ बातें बताई और महा मंत्र गायत्री का जाप कराया जिसे आने वाले.....

img

युग निर्माण हेतु भावी पीढ़ी में सुसंस्कारों की आवश्यकता जिसकी आधारशिला है भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा -शांतिकुंज प्रतिनिधि आ.रामयश तिवारी जी

वाराणसी व मऊ उपजोन की *संगोष्ठी गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी के पावन प्रांगण में संपन्न* हुई।जहां ज्ञान गंगा की गंगोत्री,*महाकाल का घोंसला,मानव गढ़ने की टकसाल एवं हम सभी के प्राण का केंद्र अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज,हरिद्वार* से पधारे युगऋषि के अग्रज.....

img

Yoga Day celebration

Yoga day celebration in Dharampur taluka district ValsadGaytri pariwar Dharampur.....