Published on 2018-03-13
img

४८८ लोगों ने गायत्री मंत्रदीक्षा ली

धुले। महाराष्ट्र
धुले में आयोजित १०८ कुण्डीय श्रद्धा संवर्धन गायत्री महायज्ञ एक ऐतिहासिक आयोजन था। देव संस्कृति विवि के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी ने क्षेत्रीय तरुणाई में राष्ट्र के नवनिर्माण के लिए अथाह उल्लास जगाया, उन्हें स्वयं का आदर्श प्रस्तुत करते हुए समाज को प्रगति की सच्ची राह दिखाने के लिए प्रेरित किया।

सद्विचारों से सजे २५ ट्रेक्टरों और झाँकियों से सजी विशाल शोभायात्रा ने पहले दिन ही यज्ञ की आशातीत सफलता के संकेत दे दिये थे। इस अवसर पर पारंपरिक वेशभूषा में २४०० कलशों के साथ दो कि.मी. की पैदल यात्रा और ५ कि.मी. की वाहन यात्रा निकली।

यह कार्यक्रम संभवत: इस वर्ष में महाराष्ट्र में कार्यक्रम शृंखला का विशालतम कार्यक्रम था। इसमें देवपूजन के दिन भी गायत्री यज्ञ की १० पारियाँ सम्पन्न हुर्इं, १० हजार से अधिक लोगों ने भाग लिया। कार्यक्रम में ४८८ दीक्षा, ८६ पुंसवन सहित अन्यान्य संस्कार बड़ी मात्रा में हुए। १११११ दीपों के साथ आयोजित दीपयज्ञ के अवसर पर यह कार्यक्रम एक महान आध्यात्मिक कुंभ प्रतीत होता रहा, जहाँ से हर श्रद्धालु अथाह आस्था, सत्प्रेरणा एवं सद्भावों का दिव्य प्रसाद संग लेकर लौटा।


Write Your Comments Here:


img

Meeting

Up Jon Gwalior ki meting.....

img

पुरस्कार वितरण समारोह

मुज़फ्फ़रनगर। उत्तर प्रदेश जिले का भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा पुरस्कार वितरण समारोह 11 अगस्त को नौ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ के.....

img

चेतना केंद की जानकारी के लिए लगाए गए दिशा मार्ग

बोहोत कम लोगो को अमरावती चेतना केंद्र की जानकारी है । तथा लोगो तक चेतना केंद्र की जानकारी पोहचाए ने के लिए रोड पर चेतना केंद्र का प्रचार किया गया और रोड पर दिशा मार्ग लगाए गए जिससे लोगों को.....