Published on 2018-03-22

जीवन में सुख- शांति के लिए गायत्री उपासना और सत्साहित्य का स्वाध्याय करें। - कुमरी शेट्टी
दिया, मुम्बई का अभियान 'संवेदना'

दहिसर, मुम्बई। महाराष्ट्र

गायत्री दहिसर ने मुद्रणेश्वर महादेव मंदिर, आनंद नगर, दहिसर में ९ से ११ फरवरी की तारीखों में महामृत्युंजय यज्ञ आयोजित किया। ११ कुण्डीय यज्ञ हुआ, कुल सवा लाख महामृत्युंजय मंत्र की आहुतियाँ समर्पित की गयीं। श्रीमती आशा सोमानी एवं श्रीमती शालिनी शेठ ने यज्ञ संचालन करते हुए महामृत्युंजय मंत्र की सामर्थ्य से श्रद्धालुओं को अवगत कराया। अनेक कार्यकर्त्ता भाई- बहनों ने जनसंपर्क एवं यज्ञ की व्यवस्थाओं में सहयोग करते हुए अनुष्ठान में विशेष भागीदारी की।

गायत्री परिवार दहिसर की प्रमुख सुश्री कुमारी शेट्टी ने कहा कि यह एक पवित्र अनुष्ठान है, जिसे जाग्रत् संवेदना संपन्न श्रद्धालुओं द्वारा सम्पन्न कराया जाता है। उन्होंने इस अनुष्ठान को परम पूज्य गुरुदेव के भाव संवेदनाओं के जागरण के लिए किये जा रहे विशेष प्रयोगों में से एक बताया, कहा कि जीवन में सुख- शांति के लिए व्यक्ति का दृष्टिकाण एवं जीवन लक्ष्य सही होना आवश्यक है। इसके लिए उन्हें युगऋषि पं. श्रीराम शर्मा आचार्य जी के साहित्य का नियमित रूप से स्वाध्याय और गायत्री उपासना भी करने चाहिए।


Write Your Comments Here:


img

श्री राम बाल संस्कारशाला, ग्राम मोरा, हरिद्वार रोड़, मुरादाबाद।

पिछले पांच वर्षों से नित् रविवार यज्ञ का अनुष्ठान किया जाता है, जिससे दलीत और मजदूर समाज सर्वांगीण विकास की ओर बढ़ रहा है, और अध्यात्म की अनुभूति करने लगा है, जिससे क्षेत्र कुरीतियों और आडम्बरों से दूर होते जा.....

img

Meeting

Up Jon Gwalior ki meting.....