Published on 2018-03-30
img

जनचेतना जागरण का विशिष्ट प्रयोग
प्रयाज में चार जिलों में १०८ स्थानों पर ५ से ९ कुण्डीय यज्ञ किए।


जगदलपुर, बस्तर। छत्तीसगढ़
जगदलपुर में लगभग २० वर्षों बाद १०८ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ एवं प्रज्ञापुराण कथा का विशाल आयोजन सम्पन्न हुआ। संभाग के सभी ४ जिलों में जनचेतना जागरण का सशक्त अभियान चलाया गया। सभी जिला एवं ब्लॉक मुख्यालयों सहित १०८ स्थानों पर शक्तिकलश के सान्निध्य में ५ से ९ कुण्डीय यज्ञों का आयोजन किया।

दो माह तक चला प्रयाज, यज्ञ के लिए जंगलनुमा पाँच एकड़ भूमि को दो माह के अथक परिश्रम से साफ- सुंदर बनाना, २५०० कलशों की विशाल कलश यात्रा जैसी अनेक चुनौतियाँ थीं। सुकमा जिले के प्राणवान कार्यकर्त्ता श्री आयताराम पोडियाम ने इन सबको अथक परिश्रम एवं बड़ी कुशलता के साथ सँभाला।

कलश यात्रा का शुभारंभ स्थानीय सांसद श्री दिनेश कश्यप द्वारा ध्वजारोहण से हुआ। बस्तर के महाराजा श्री कमलचंद भजदेव, छत्तीसगढ़ राज्य बीज एवं कृषि विकास निगम के अध्यक्ष श्री श्याम बैस आदि गणमान्यों ने कार्यक्रम में भाग लिया। कलश यात्रा में आकर्षक झाँकियाँ, गुरुदेव के जीवन दर्शन पर प्रदर्शनी, सप्तऋषियों की झाँकियाँ, साहित्य स्टॉल ने कार्यक्रम को अत्यंत प्रेरणादायक बना दिया था।

महायज्ञ का संचालन शांतिकुंज से पहुँची श्री राजकुमार भृगु की टोली ने किया। १९ जोड़ों का आदर्श विवाह सहित विविध संस्कार हुए।


Write Your Comments Here:


img

श्री राम बाल संस्कारशाला, ग्राम मोरा, हरिद्वार रोड़, मुरादाबाद।

पिछले पांच वर्षों से नित् रविवार यज्ञ का अनुष्ठान किया जाता है, जिससे दलीत और मजदूर समाज सर्वांगीण विकास की ओर बढ़ रहा है, और अध्यात्म की अनुभूति करने लगा है, जिससे क्षेत्र कुरीतियों और आडम्बरों से दूर होते जा.....

img

Meeting

Up Jon Gwalior ki meting.....