Published on 2018-04-03
img

संवत प्रवर्तक महाराजा विक्रमादित्य की नगरी उज्जैन में गायत्री परिवार क्षिप्रा नदी के तट पर सामूहिक सूर्यार्घ्यदान का कार्यक्रम आयोजित करते हुए हर संवत का स्वागत करता रहा है। गत वर्ष से नये उज्जैन में भी यह कार्यक्रम आयोजित हो रहा है।

उज्जैन। मध्य प्रदेश

गायत्री परिवार उज्जैन के सदस्यों ने चैत्र शुक्ल प्रतिपदा के दिन कालीदास अकादमी कोठी रोड परिसर स्थिति कमल सरोवर पर सामूहिक सूर्य अर्घ्यदान समारोह आयोजित करते हुए संवत २०७५ का स्वागत किया। इस अवसर पर सामूहिक गायत्री महामंत्र जप एवं सूर्य नमस्कार, गायत्री स्तवन पर नृत्य के कार्यक्रम भी रखे गए थे। वहाँ उपस्थित सैकड़ों साधकों को सम्बोधित करते हुए उपजोन समन्वयक श्री महाकालेश्वर श्रीवास्तव ने गायत्री उपासना से समाज में व्याप्त पैशाचिक प्रवृत्तियों से संर्घष कर उन्हें समाप्त करने का संकल्प एवं साहस जगाने का आह्वान किया।

डॉ. शशिकांत शास्त्री ने भारतीय संस्कृति, संवत परम्परा और गायत्री परिवार द्वारा घोषित शक्ति संवर्धन वर्ष की महत्ता पर प्रकाश डाला। पूर्व जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री शशिमोहन श्रीवास्तव, माधव नगर चिकित्सालय के प्रभारी डॉ. विनोद गुप्ता, श्री चंद्रशेखर वशिष्ठ ने भी गुड़ी पड़वा एवं नवसंवत्सर की महत्ता बताई। आयोजन स्थल एवं गायत्री शक्तिपीठ अंकपात द्वार पर नीम के रस और मिश्री का वितरण किया गया।


Write Your Comments Here:


img

श्री राम बाल संस्कारशाला, ग्राम मोरा, हरिद्वार रोड़, मुरादाबाद।

पिछले पांच वर्षों से नित् रविवार यज्ञ का अनुष्ठान किया जाता है, जिससे दलीत और मजदूर समाज सर्वांगीण विकास की ओर बढ़ रहा है, और अध्यात्म की अनुभूति करने लगा है, जिससे क्षेत्र कुरीतियों और आडम्बरों से दूर होते जा.....

img

Meeting

Up Jon Gwalior ki meting.....