गोमुख से गंगासार तक के गंगाघाटों की सफाई अभियान के लिए गायत्री परिवार की टीम जुटी है

Published on 2018-04-18
img

२२ अप्रैल को होगी  गंगाघाटों की सफाई
गायत्री परिवार सहित विभिन्न संस्थानों के लाखों स्वयंसेवियों की होगी भागीदारी

हरिद्वार १८ अप्रैल।
गंगा सप्तमी (२२ अप्रैल) को अखिल विश्व गायत्री परिवार, शांतिकुंज के नेतृत्व में गोमुख से गंगासागर तक के पाँच सौ से अधिक प्रमुख घाटों में सफाई अभियान चलायेगा। इस अभियान में गायत्री परिवार के साथ विभिन्न सामाजिक, सरकारी व गैर सरकारी संगठन भागीदारी निभायेंगे।

अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी ने बताया कि सफाई अभियान की पूर्व तैयारी के लिए शांतिकुंज के स्वयंसेवकों की सात टीम बनाई गयी है, जो गोमुख से गंगासागर के तटों का निरीक्षण एवं निर्धारित योजना के लिए जन जागरण के कार्यों में जुटी है। उन्होंने बताया कि अभियान में उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखण्ड, पश्चिम बंगाल सहित कई राज्यों के स्वयं सेवक सफाई अभियान में भाग लेंगे।

व्यवस्थापक श्री शिवप्रसाद मिश्र ने बताया कि गंगा सप्तमी को गंगा तटों की होने वाली सफाई अभियान की तैयारियाँ अंतिम चरण में है। गोमुख से गंगासागर की वृहत स्तर पर सफाई अभियान एवं जनजागरण के लिए गायत्री परिवार की टीम जुटी है। उन्होंने बताया कि इस सफाई अभियान में उत्तराखंड से लेकर प.बंगाल के अनेक संस्थानों ने सहयोग के लिए हाथ बढ़ाया है। शांतिकुंज रचनात्मक प्रकोष्ठ के समन्वयक श्री केदार प्रसाद दुबे ने बताया कि हरिद्वार के विभिन्न घाटों के लिए शांतिकुंज के अंतेवासी कार्यकर्त्ता, देवसंस्कृति विश्वविद्यालय परिवार, गायत्री विद्यापीठ परिवार, एनएसएस के स्वयंसेवी, युग निर्माण स्काउट गाइड, हरिद्वार नागरिक मंच सहित शहर के करीब सौ से अधिक संगठनों के हजारों सदस्य २२ अप्रैल को गंगा मैया के तटों की सफाई अभियान में अपना पसीना बहायेंगे। उन्होंने बताया कि शहर के वरिष्ठ समाजसेवी श्री जगदीश लाल पाहवा एवं उनके सहयोगियों की टीम भी निर्धारित घाटों में सफाई अभियान में भागीदारी करेगी।


Write Your Comments Here:


img

देव संस्कृति विश्वविद्यालय का ३३ वाँ ज्ञानदीक्षा समारोह

व्यक्तित्व में समाये देवत्व को जगाने का आह्वानविद्यार्थियों को शिक्षा एवं संस्कार द्वारा परमात्मा से जुड़ने और जोड़ने का कार्य देव संस्कृति विश्वविद्यालय द्वारा किया जा रहा है। - स्वामी विश्वेश्वरानन्द जीज्ञानार्जन का उद्देश्य है अपने व्यक्तित्व का परिष्कार।.....

img

.....

img

डॉ. पण्ड्या ने 251 कुण्डीय गायत्री महायज्ञ हेतु किया कलश पूजन

हरिद्वार 19 जुलाई।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में गायत्री परिवार प्रमुखद्वय श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या व श्रद्धेया शैलदीदी ने बड़ौदा (गुजरात) में 1994 में हुए अश्वमेध गायत्री महायज्ञ के रजत जयंती महोत्सव हेतु कलश पूजन किया। यह महोत्सव 1 से 3 जनवरी.....