Published on 2018-04-23

लखनऊ में आयोजित नशामुक्ति रैली में बोले योगी आदित्यनाथ 'जन सहभागिता ही है संकल्प सिद्धि का मंत्र'
एक करोड़ हस्ताक्षर ज्ञापन सौपा


लखनऊ। उत्तर प्रदेश

अमर शहीद मंगल पाण्डेय के बलिदान दिवस- ८ अप्रैल २०१८ को अखिल विश्व गायत्री परिवार के प्रादेशिक संगठन द्वारा घोषित विशाल व्यसनमुक्ति समारोह अभूतपूर्व सफलता के साथ सम्पन्न हुआ। सायंकाल अखिल विश्व गायत्री परिवार के प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी ने रमाबाई अंबेडकर मैदान पर आयोजित विशाल सभा के मंच पर विराजमान महामहिम श्री रामनाईक एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पिछले लगभग एक वर्ष से प्रदेश में गायत्री परिवार के युवा संगठन द्वारा चलाये गये अभियान की जानकारी दी। गायत्री परिवार की ओर से प्रदेश के सभी ७५ जिलों में नशामुक्ति के लिए लोगों से कराये नशामुक्ति के संकल्पों की साक्षी में सरकार को एक ज्ञापन सौंपा, जिसमें प्रदेश को नशा और नशे के व्यापार से मुक्त करने के लिए सरकार की ओर से कदम उठाये जाने की माँग की थी।

महामहिम राज्यपाल एवं माननीय मुख्यमंत्री जी ने विशुद्ध रूप से राष्ट्र के विकास के लिए किए जा रहे प्रयासों की हृदय से सराहना की, कहा कि प्रदेश सरकार इस अभियान में अपना पूरा- पूरा सहयोग देगी। इस अवसर पर महिला कल्याण मंत्री डॉ.रीता बहुगुणा जोशी भी मंचासीन थीं।

दीप प्रज्वलन, देवपूजन के उपरांत अखिल विश्व गायत्री परिवार की ओर से मंचासीन महानुभावों का गायत्री परिवार की ओर से भावभरा स्वागत किया गया। तत्पश्चात् अभियान संयोजकों में से एक श्री पवित्र सक्सेना ने पूरे एक वर्षीय अभियान की आख्या प्रस्तुत की। तत्पश्चात् अतिथि महानुभावों ने अपने संदेश से कार्यकर्त्ताओं का मनोबल और उत्साह बढ़ाया। युवा प्रकोष्ठ एवं आन्दोलन प्रभारी शांतिकुंज प्रतिनिधि श्री केदार प्रसाद दुबे ने कार्यक्रम का संचालन किया। उन्होंने गायत्री परिवार की युवा सामर्थ्य ओर संकल्पों का परिचय उपस्थित महानुभावों को दिया।

कार्यक्रम के अंत में संकल्प दीपयज्ञ सम्पन्न हुआ। श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी ने इस अवसर पर उपस्थित लोगों को बिना थके, बिना रुके नशे के विरुद्ध संघर्ष करते रहने की शपथ दिलाई। माननीय श्री योगी आदित्यनाथ ने कहा- आओ मिलकर दीप जलाएँ, अंधकार को दूर भगाएँ। उन्होंने गायत्री परिवार ही नहीं, उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने में सहयोगी संगठन को सरकार का पूरा- पूरा सहयोग मिलने का आश्वासन दिया।

पूरे प्रदेश में आयी नवजागृति
उत्तर प्रदेश का नशामुक्ति अभियान कुरीतियों से संघर्ष का एक अद्वितीय, एतिहासिक आयोजन था, जिसमें प्रदेश के सभी ७५ जिलों के लगभग १,००,००० युवा संगठित होकर पूरे वर्ष तक जनसंपर्क अभियान में जुटे रहे। संघबद्ध प्रयासों से मिली सफलता ने युग निर्माण आन्दोलन को गति देते हुए देश को एक नई आज़ादी की ओर ले जाने का उत्साह जगाया है। नैष्ठिक कार्यकर्त्ताओं में अपने चरित्रबल के आधार पर राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता से परे, जातिवाद के जहर को दूर कर एकता- समता मूलक सभ्य, सुशिक्षित समाज की स्थापना का मन बनाया है।

एक करोड़ हस्ताक्षर प्रदर्शनी

अखिल विश्व गायत्री परिवार द्वारा रमाबाई अंबेडकर मैदान पर बने विशाल मंच के समक्ष पूरे प्रदेश में नशामुक्ति के लिए कराए गये हस्ताक्षरों की फाइलें सजाई गई थीं।

३० हजार लोगों ने भाग लिया
इस कार्यक्रम में नशामुक्ति अभियान से जुड़े उत्तर प्रदेश के सभी जिलों के युवा प्रतिनिधि भाग लेने पहुँचे। लगभग ३० हजार भाई- बहनों ने पूरे प्रदेश का प्रतिनिधित्व किया।

चरित्रबल का अद्भुत प्रभाव
पूरे वर्ष चले हस्ताक्षर अभियान ने जनमानस पर गहरा प्रभाव डाला है। बिना किसी व्यक्तिगत लाभ के समाजसेवा की हूक ने जनसामान्य ही नहीं, प्रदेश के प्रतिष्ठित महानुभावों का भी भरपूर समर्थन प्राप्त किया। हजारों की संख्या में विधायक, जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिसकर्मी, वरिष्ठ अधिकारी, समाज के प्रबुद्धजनों ने गायत्री परिवार के नशामुक्ति अभियान का समर्थन करते हुए नशामुक्ति के संकल्प लिए।

विद्यालयों की भागीदारी

प्रदेश के ५००० विद्यालयों से सम्पर्क किया गया, उनके विद्यार्थियों से नशामुक्त जीवन जीने के सकंल्प कराये गये। इन विद्यालयों ने गाँव- गाँव रैलियाँ निकालने में बहुत सहयोग किया।

शहीदों को नमन
प्रदेश के समस्त शहीदों की मातृभूमि को विशेष श्रद्धा के साथ नमन किया गया। उनके सपनों का सभ्य, सुसंस्कृत समाज बनाने का संकल्प लिया गया।

पॉलीथीन भी है समस्या
मुख्यमंत्री जी ने पॉलीथीन को भी एक बड़ी समस्या बताते हुए इसके विरुद्ध नशामुक्ति आन्दोलन जैसा ही जनजागरण अभियान चलाने का आह्वान किया।

बीमारी, अपराध, गरीबी की जड़ है नशा• माननीय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी
नशा स्वास्थ्य का सबसे बड़ा दुश्मन है। यह कैंसर जैसी जान लेवा बीमारियाँ, अपराध, गरीबी की जड़ है। समाज से नशा दूर हो जाए तो अनेक समस्याएँ स्वत: ही दूर हो जाएँ।

नशे से मिलने वाले राजस्व से कहीं ज्यादा खर्च सरकार को नशे से होने वाली बीमारियों पर करना पड़ता है। हर साल तंबाकू उत्पादों का सेवन करने वाले लोगों के इलाज में ४०,००० करोड़ रुपये खर्च होता है। यदि सरकार नशे का कारोबार प्रतिबंधित कर दे तो इससे मिलने वाले राजस्व जितना धन तो गायत्री परिवार चंदा इकट्ठा कर सरकार को दे सकता है।

गायत्री परिवार अपने यज्ञों में लोगों से दुव्यसनों की देवदक्षिणा अनिवार्य रूप से लेता है। एक करोड़ लोगों से व्यसनमुक्ति का संकल्प कराने के अभियान की यह सफलता हमारे कार्यकर्त्ताओं के चरित्रबल से ही संभव हुई है। गायत्री परिवार के करोड़ों लोगों का चरित्रबल ही समाज को प्रगति की सच्ची राह दिखाएगा।

देश का दूसरा स्वतंत्रता संग्राम• महामहिम श्री राम नाईक, राज्यपाल
मादक पदार्थों का सेवन करने वाले युवकों की संख्या बढ़ना समाज के लिए नदी में बाढ़ के समय खतरे का निशान पार करने के समान है, जो गाँव, मोहल्ले ही नहीं, सारी दुनिया में बढ़ रहा है। आप सब इस खतरे से समाज को बचाने के लिए लड़ रहे हैं, इसके लिए मैं बधाई देता हूँ। यह १८५७ में आरंभ हुए स्वतंत्रता संग्राम की तरह ही देश को नई आज़ादी दिलाकर प्रगति का मार्ग प्रशस्त करने वाला एक चुनौतीपूर्ण काम है। यह प्रदेश को विकास के रास्ते पर ले जाएगा।

'स्वच्छ भारत अभियान' का ही एक चरण• माननीय योगी आदित्यनाथ जी

गायत्री परिवार का नशामुक्ति अभियान स्वच्छ भारत अभियान का ही एक चरण है। राज्य सरकार नशामुक्त उत्तर प्रदेश अभियान में पूरी मदद करेगी।

किसी भी संकल्प को सिद्धि में बदलने के लिए सात्विकता चाहिए। इस अभियान में जन सहभागिता बन जाए, तो संकल्प को सिद्ध होने से कोई नहीं रोक सकता है।

इस अवसर पर प्रादेशिक सरकार द्वारा नशामुक्ति की दिशा में किए गये स्कूल, हॉस्पिटल, धार्मिक स्थलों के पास और हाईवे के किनारों से शराब की दुकानें न खुलने देने की प्रतिबद्धता दोहराई।

आठ किलोमीटर लम्बी शोभायात्रा
८ अप्रैल की प्रात: पूरे प्रदेश से आये कार्यकर्त्ताओं ने मिलकर आठ किलोमीटर की शोभायात्रा निकाली। युवानायक श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी एवं डॉ. बृजमोहन गौड़ ने हरी झंडी दिखाकर इसे रवाना किया। कार्यकर्त्ताओं ने अपने- अपने जिलों की टोलियों में चले। रैली में पैदल, बाइक और वाहनों में सवार गायत्री परिवार के सदस्य लोगों से जोशीले नारे, श्लोगन लिखी तख्तियों के माध्यम से लोगों को नशामुक्त जीवन जीने की प्रेरणा देते रहे, वहीं प्रदेश सरकार से प्रदेश को नशामुक्त करने की माँग करती रही। अनेक झाँकियों ने शोभायात्रा को प्रभावशाली बनाया।

विधायक द्वारा स्वागत

प्रदेश की मंत्री सुश्री स्वाती सिंह ने पावर हाउस चौराहे पर शोभायात्रा पर पुष्प वर्षा कर स्वागत किया।


Write Your Comments Here:


img

नशामुक्ति के लिए गांव-गांव जाकर गायत्री परिवार के सदस्य कर रहे लोगों को जागरूक

गांव के लोगों को नशा से मुक्त करने के लिए गायत्री परिवार के सदस्य गांव-गांव जाकर जागरूक कर रहे हैं। रविवार को कृषि उपज मंडी में गायत्री परिवार युवा प्रकोष्ठ के सदस्यों ने मंडी में पहुंचे किसानों को नशामुक्ति की.....

img

व्यसन मुक्ति अभियान औरंगाबाद

औरंगाबाद  : व्यसन मुक्ति अभियान अंतर्गत शांतिकुंज से आए रथ के औरंगाबाद मे १२ जगह पर शानदार कार्यक्रम सम्पन्न हुवे। जिसमें से ५ गाँव मे लगभग सभी जगह २०० के आस पास संख्या रही। ३ कार्यक्रम सोसायटी मे सम्पन्न हुवे। जिसमें संख्या लगभग.....

img

नशा छोड़ रहे हैं चाय बागानों में काम करने वाले लोग

अत्रिघाट, उदालगुड़ी। असमगायत्री चेतना केन्द्र, बेहारबाड़ी, गुवाहाटी एवं युवा इकाई दिया ने पूर्वोत्तर भारत की समृद्धि हेतु अत्रिघाट के चाय बगानों में नशामुक्ति अभियान चला रखा है। वहाँ २७ मई को एक नशामुक्ति जागरूकता रैली निकाली गई। इसके कम्युनिटी हॉल.....