शांतिकुंज पहुंचे उ.प्र. के मंत्री

Published on 2018-04-25

देसंविवि व शांतिकुंज के रचनात्मक कार्यक्रमों से हुए अभिभूत

हरिद्वार २५ अप्रैल।
उ.प्र. के सिविल डिफेन्स व सैनिक कल्याण मंत्री श्री अनिल राजभर अपने सहयोगियों के साथ मंगलवार को देर शाम शांतिकुंज पहुँचे। यहाँ उन्होंने देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के विभिन्न रचनात्मक कार्यक्रमों एवं युवाओं को पाठ्यक्रम के अलावा स्वावलंबी बनाने की दिशा में चलाये जा रहे स्वावलंबन कार्यशाला का अवलोकन किया।

वहीं मंत्री श्री राजभर ने देसंविवि के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्याजी से भेंट परामर्श कर युवाओं के चहुुंमुखी विकास के लिए चलाये जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों से अवगत हुए। प्रतिकुलपति ने विवि व शांतिकुंज द्वारा संचालित हो रहे निर्मल गंगा जन अभियान, युवा जागरण शिविर सहित विभिन्न आंदोलनों की जानकारी दी। जन जागरण एवं राष्ट्रोत्थान के इस आंदोलन से अवगत हो मंत्री जी ने प्रसन्नता व्यक्त की। इस अवसर पर प्रतिकुलपति डॉ.चिन्मय पण्ड्याजी ने श्री राजभर जी को स्मृति चिह्न, युग साहित्य एवं देसंविवि के हस्तकरघा द्वारा निर्मित वस्तुएँ भेंट सम्मानित किया।

वहीं शांतिकुंज भ्रमण के दौरान उन्होंने बागवानी सहित विभिन्न प्रशिक्षण केन्द्रों का अवलोकन किया। युगऋषि के पावन समाधि में पुष्पांजलि अर्पित कर राज्य के विकास की प्रार्थना की। मंत्री जी ने आमजन की भाँति वंदनीया माताजी के भोजनालय में जमीन में बैठकर भोजन-प्रसाद लिया। इस दौरान शांतिकुंज के श्री गंगाधर चौधरी सहित वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी आदि मौजूद रहे।


Write Your Comments Here:


img

देव संस्कृति विश्वविद्यालय का ३३ वाँ ज्ञानदीक्षा समारोह

व्यक्तित्व में समाये देवत्व को जगाने का आह्वानविद्यार्थियों को शिक्षा एवं संस्कार द्वारा परमात्मा से जुड़ने और जोड़ने का कार्य देव संस्कृति विश्वविद्यालय द्वारा किया जा रहा है। - स्वामी विश्वेश्वरानन्द जीज्ञानार्जन का उद्देश्य है अपने व्यक्तित्व का परिष्कार।.....

img

.....

img

डॉ. पण्ड्या ने 251 कुण्डीय गायत्री महायज्ञ हेतु किया कलश पूजन

हरिद्वार 19 जुलाई।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में गायत्री परिवार प्रमुखद्वय श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या व श्रद्धेया शैलदीदी ने बड़ौदा (गुजरात) में 1994 में हुए अश्वमेध गायत्री महायज्ञ के रजत जयंती महोत्सव हेतु कलश पूजन किया। यह महोत्सव 1 से 3 जनवरी.....