Published on 2018-05-05

गायत्री परिवार, पुणे जल स्रोत संरक्षण एवं स्वच्छता अभियान। संत ज्ञानेश्वर महाराज के कर्मभूमि श्रीक्षेत्र आलंदी में प्राचीन 51 प्राकृतिक जल स्रोत जिनका उपयोग पहले पेय जल के लिए किया जाता था। इस समय सभी जलस्रोत मृतप्राय है। गायत्री परिवार पुणे उन सभी जल स्रोतों को पुनः जीवित करके उस जल का उपयोग पुनः पेय जल या अन्य उपयोग में लाने के लिए किया जायेगा। उसी अभियान का शुभारंभ आज 5 मई को हुआ। प्रथम प्राकृतिक जल स्रोत को पुनः जीवित किया गया। 🙏🏻🙏🏻


Write Your Comments Here:


img

प्रशिक्षण शिविर

5 दिवसीय प्रशिक्षण शिविर कर्मकांड, संगीत, वादन etcस्थान- गायत्री शक्ति पीठ राठ, हमीरपुर उत्तर प्रदेश.....

img

प्रशिक्षण शिविर

5 दिवसीय प्रशिक्षण शिविर- कर्मकांड, संगीत, वादनस्थान- गायत्री शक्ति पीठ राठ हमीरपुर उत्तर प्रदेश.....