पर्यावरण संरक्षण के लिए हुई प्रशंसनीय पहल

Published on 2018-05-12
img

एक डॉक्यूमेण्ट्री ने बदल दी लोगों की आदत

यूनाइटेड किंगडम
वर्षों बाद लंदन की कई कॉलोनियों में पहले की तरह सुबह- सुबह दूध की डिलीवरी करने वाले दिखने लगे हैं। अब लोग प्लास्टिक की बोतलों में नहीं, काँच की बोतलों में दूध लेना पसंद कर रहे हैं। बीबीसी की एक डॉक्यूमेण्ट्री 'ब्लू प्लेनेट द्वितीय' को देखने के बाद यह परिवर्तन आया है, जिसे डेविड एटनबोरो ने तैयार किया है। इसमें बताया गया है कि किस तरह प्लास्टिक का कचरा हमारे आसपास के वातावरण, शहर, देश और पूरी पृथ्वी को नुकसान पहुँचा रहा है।

इस डॉक्यूमेण्ट्री को देखने के बाद मिल्क एण्ड मोर नामक कम्पनी ने काँच की बोतलों में दूध की होम डिलीवरी फिर से शुरू कर दी। लोगों पर भी डॉक्यूमेण्ट्री का भरपूर प्रभाव है। पहले प्लास्टिक की खाली बोतलों का ढेर लग जाता था, अब लोग काँच की खाली बोतल रखकर भरी बोतल ले जाते हैं। प्रसन्नता की बात है कि परिवार वाले ही नहीं, पर्यावरण को बचाने के लिए अकेले रहने वाले युवा भी अपनी सुविधाओं को त्यागकर काँच की बोतलों में दूध लेना पसंद कर रहे हैं।

img

डलास, अमेरिका में हुआ १०८ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ

वैश्विक चुनौतियों का सामना करने के लिए संघबद्ध आध्यात्मिक पुरुषार्थ का आह्वान १५ अप्रैल को हिन्दू मंदिर सोसाइटी, डलास में १०८ कुण्डीय महायज्ञ सम्पन्न हुआ। गायत्री परिवार के सदस्यों सहित डलास और आसपास के नगरों से आये सैकड़ों श्रद्धालुओं ने.....

img

पूर्वी अफ्रीका में शांतिकुंज की टोली का प्रवास

यूगांडा, तंजानिया और केन्या में १०८ कुण्डीय यज्ञ हुएशांतिकुंज प्रतिनिधि श्री शांतिलाल पटेल, श्री ओंकार पाटीदार एवं श्री बसंत यादव की टोली ८ मार्च से १६ अप्रैल तक यूगांडा, तंजानिया और केन्या के प्रवास पर थी। इस प्रवास में तीनों.....

img

युग निर्माणी संकल्पों को साकार कर रहे हैं यूगांडा के कार्यकर्त्ता

कम्पाला में हुई कार्यकर्त्ता गोष्ठियों ने बढ़ाया उत्साहडॉ. चिन्मय पण्ड्याजी २९ मार्च से ५ अप्रैल २०१८ तक अपने सहयोगी श्री रामावतार पाटीदार के साथ यूगांडा और केन्या के प्रवास पर थे। कम्पाला के एंटनी एअरपोर्ट पर वहाँ पहले से सक्रिय.....


Write Your Comments Here: