तेलुगु कार्यकर्त्ताओं की विशेष मार्गदर्शन सङ्गोष्ठी

Published on 2018-05-14

अखिल विश्व गायत्री परिवार के प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पंड्या जी एवं आदरणीया शैल जीजी जी ने सभी के व्यक्तिगत स्वास्थ्य, पारिवारिक परिस्थिति के समाचार लिए और सभी को गुरु कार्य को करते रहने से संचित और प्रारब्ध कर्म शोधित होते हैं। मार्गदर्शन दिया। आन्ध्र प्रदेश के नेल्लूर, प्रकाशम, ओंगेल, चिराला, गुण्टूर, तेनाली, मंगलगिरि विजयवाड़ा, ईस्ट गोदावरी, वेस्ट गोदावरी, विशाखापट्नम, विजयनगरम आदि और तेलंगाना राज्य के करीमनगर, जगत्याल, हैदराबाद, सिकन्द्राबाद, संघारेड्डी, वारंगल, मंचिरियाल, खम्माम आदि स्थानों से 350 तेलुगु भाषी परिजनों ने "संजीवनी साधना शिविर" में प्रतिदिन 30 माला गायत्री मंत्र जप करते हुए तीनों संध्यायों पर साधना और सत्संग का लाभ लिया।
तेलुगु राज्यों
तेलुगु राज्यों से आये वरिष्ठ कार्यकर्त्ताओं की निर्माणात्मक सङ्गोष्ठी शान्तिकुञ्ज के वरिष्ठ प्रतिनिधि डॉ. बृजमोहन गौड़ जी के मार्गदर्शन में सम्पन्न हुई। युगनिर्माण के कार्य को घर-घर पहुँचाने के लिये प्रतिदिन दो घण्टे का समयदान, तीन माला गायत्री उपासना नियमित, एक घण्टे स्वाध्याय करने वालों को प्रज्ञापरिजन कहते हैं।
अश्वमेध महायज्ञ हैदराबाद 2020 के लिए सवा लाख घरों में गायत्री और यज्ञ पहुँचाना है।

img

सभ्य समाज के निर्माण के लिए हो रहे कुछ आदर्श- अनुकरणीय कार्य

१०० वृक्ष- स्मारकनडियाद, खेड़ा। गुजरातराष्ट्रीय ख्याति के हृदयरोग विशेषज्ञ डॉ. अनिल झा गायत्री परिवार के कार्यकर्त्ताओं के लिए एक आदर्श हैं। अपने अत्यधिक व्यस्त कार्यक्रमों के बीच भी वे युग निर्माण आन्दोलनों को गति देने का कोई अवसर हाथ से.....

img

भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा- प्रतिभा प्रोत्साहन, पुरस्कार वितरण का क्रम

जैसलमेर। राजस्थान२९ मार्च को गायत्री शक्तिपीठ जैसलमेर पर भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा पुरस्कार वितरण समारोह सम्पन्न हुआ। मुख्य अतिथि श्रीमती कविता कैलाश खत्री, विशिष्ट अतिथि श्रीमती अंजना मेघवाल, जिला प्रमुख कानसिंह राजपुरोहित एवं सुभाष चंद्र तिवारी तथा कार्यक्रम की अध्यक्षता.....


Write Your Comments Here: