Published on 2018-05-21

शांतिकुंज की प्रेरणा से 'श्रीराम स्मृति उपवन' की तरह ऋषिकेश में बनाया पहला स्वास्थ्य उद्यान। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को प्रत्येक जिले में ऐसे स्वास्थ्य उद्यान बनाने को कहा।

'ऐसे स्वास्थ्य उद्यान नागरिकों को स्वास्थ्य लाभ देंगे, उन्हें स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करेंगे। यह पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र भी होंगे।'   •  माननीय श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावतजी

उत्तराखंड के वन विभाग के अधिकारियों ने देव संस्कृति विश्वविद्यालय के श्रीराम स्मृति उपवन से प्रेरणा लेते हुए ठीक वैसा ही एक उद्यान ऋषिकेश-नरेन्द्र नगर मार्ग पर स्थित सुशीला देवी तिवारी उद्यान में निर्मित कराया है। ६ मई २०१८ को प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने इसका लोकार्पण किया। शांतिकुंज प्रतिनिधि श्री के.पी. दुबे से शांतिकुंज की प्रेरणा और संपूर्ण तकनीकी सहयोग से बने इस उद्यान की विस्तृत जानकारी पाकर वे अत्यंत प्रसन्न हुए। उन्होंने उसी समय पूरे प्रदेश में ऐसे स्वास्थ्य उद्यान बनाने के निर्देश अपने अधिकारियों को दिये।

स्थापनाएँ
• रसाहार केन्द्र
• एक्यूप्रेशर पथ
• नवग्रह-नक्षत्र, औषधि वाटिका आदि

इस स्वास्थ्य उद्यान का निर्माण वन विभाग, उत्तराखंड के उन वरिष्ठ अधिकारियों ने कराया है जो पिछले दिनों देव संस्कृति विश्वविद्यालय आये और वहाँ बने श्रीराम स्मृति उपवन को देखकर बहुत प्रभावित हुए। शांतिकुंज के आन्दोलन प्रकोष्ठ ने उन्हें नक्शा बनाने से लेकर टाइल्स बनवाने, वनस्पतियों का चयन करने,  प्रचार-प्रसार करने में उनका पूरा-पूरा सहयोग किया।
उद्यान के लोकार्पण समारोह में भी शांतिकुंज का पूरा-पूरा सहयोग रहा। श्री के.पी. दुबे ने मंच संचालन करते हुए हरीतिमा संवर्धन के लिए शांतिकुंज द्वारा चलाये जा रहे राष्ट्रीय अभियान की जानकारी भी दी। इस अवसर पर राज्य के विधान सभा अध्यक्ष, वन मंत्री, कृषि मंत्री, वन विभाग के उच्च अधिकारी व फील्ड स्टाफ का पूरा दस्ता उपस्थित था।

रसाहार केन्द्र को आरंभ कराने में गायत्री शक्तिपीठ भोपाल के कार्यकर्त्ताओं की विशेष भूमिका रही। वहीं पूरे उद्यान के निर्माण में गायत्री परिवार के समर्पित कार्यकर्त्ता श्री बद्री प्रसाद बधानी,वन विभाग के परिक्षेत्र अधिकारी नरेंद्रनगर  की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका रही।


Write Your Comments Here:


img

anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री मंत्र और गायत्री माँ के चम्त्कार् के बारे मैं बताया

मैं यशवीन् मैंने आज राजस्थान के barmer के बालोतरा मैं anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री माँ के बारे मैं बच्चों को जागरूक किया और वेद माता के कुछ बातें बताई और महा मंत्र गायत्री का जाप कराया जिसे आने वाले.....

img

युग निर्माण हेतु भावी पीढ़ी में सुसंस्कारों की आवश्यकता जिसकी आधारशिला है भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा -शांतिकुंज प्रतिनिधि आ.रामयश तिवारी जी

वाराणसी व मऊ उपजोन की *संगोष्ठी गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी के पावन प्रांगण में संपन्न* हुई।जहां ज्ञान गंगा की गंगोत्री,*महाकाल का घोंसला,मानव गढ़ने की टकसाल एवं हम सभी के प्राण का केंद्र अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज,हरिद्वार* से पधारे युगऋषि के अग्रज.....

img

Yoga Day celebration

Yoga day celebration in Dharampur taluka district ValsadGaytri pariwar Dharampur.....