नवप्रवेशी
विद्यार्थी अपनत्व पा हुए अभिभूत
देसंविवि में तीन दिवसीय उन्मुखीकरण शिविर का समापन
  
 देवसंस्कृति विवि के सत्र 2013- 14 के नवप्रवेशी छात्र- छात्राओं का तीन दिवसीय उन्मुखीकरण शिविर का गुरुवार को समापन हो गया। इन तीन दिन में विद्यार्थियों को सफलता के सूत्र, व्यावहारिक जीवन की समस्याओं का समाधान, व्यक्तित्व विकास, शिक्षा एवं विद्या आदि विषयों पर विषय विशेषज्ञों ने विस्तार से अवगत कराया।
    शिविर के समापन समारोह को सम्बोधित करते हुए कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्या ने कहा कि इक्कीसवीं सदी- उज्ज्वल भविष्य का दिव्य सपना देखने वाले युगऋषि पं० श्रीराम शर्मा आचार्य ने युवाओं के इस देश में उन्हें शिक्षा के साथ विद्या दे सकें, ऐसे विश्वविद्यालय के निर्माण का निर्देश दिया था, उन्हीं के दिशा- निर्देश पर आधारित इस ११ वर्षीय विवि ने अनेक बुलन्दियों को छुआ है। उन्होंने कहा कि इस दिशा में आप सभी (नवप्रवेशी विद्यार्थी) का उसी स्तर पर योगदान होना चाहिए। आप सब विवि के रीति- नीति व अनुशासन के अनुसार ही अपनी दिनचर्या बनायें, ताकि स्वयं के साथ- साथ माता- पिता, समाज एवं विवि का नाम विश्व क्षितिज में अलग चमके। कुलाधिपति ने आश्वासन दिया कि माता- पिता से दूर रहते हुए आप सभी को विवि अधिकारीगणों का अपनत्व मिलेगा। जब कभी किसी प्रकार की कोई समस्या आए, तो उसका तुरंत ही समाधान के लिए संस्था की अधिष्ठात्री शैल दीदी व अन्य वरिष्ठ जनों से संपर्क कर सकते हैं, सभी अग्रज की भांति आपके साथ खड़े रहेंगे।
    इससे पूर्व विद्यार्थियों का मार्गदर्शन करते प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या ने कहा कि विद्यार्थी अपनी बौद्धिक क्षमता (विद्या) का विकास कर अपने को आदर्श रूप से ढालें और अपना चरित्र निर्माण कर व्यक्तित्व का विकास करे, तो जीवन सुख- शांतिमय बन सकता है और ऐसा ही जीवन उत्तम माना जाता है। कुलसचिव श्री संदीप कुमार ने ग्रहण शीलता, सामंजस्य, पुरुषार्थ आदि पर विस्तार से जानकारी दी।
    विद्यार्थियों की दिनचर्या प्रात बजे जागरण से प्रारंभ विभिन्न विषयों पर विशेषज्ञों के मार्गदर्शन एवं दिव्य युवा जागरण जैसे रोचक कार्यक्रमों के साथ- साथ चलता रहा। विवि की महत्वाकांक्षी योजनाओं, लक्ष्यों एवं उद्देश्यों से परिचति कराया गया।





Write Your Comments Here:


img

गृह मंत्री अमित शाह बोले- वर्तमान एजुकेशन सिस्टम हमें बौद्धिक विकास दे सकता है, पर आध्यात्मिक शांति नहीं दे सकता

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि हम उन गतिविधियों का समर्थन करते हैं जो हमारे देश की संस्कृति और सनातन धर्म को प्रोत्साहित करती हैं। पिछले 50 वर्षों की अवधि में, हम हम सुधारेंगे तो युग बदलेगा वाक्य.....

img

शान्तिकुञ्ज में 75वाँ स्वतंत्रता दिवस उत्साहपूर्वक मनाया गया

प्रसिद्ध आध्यात्मिक संस्थान गायत्री तीर्थ शांतिकुंज, देव संस्कृति विश्वविद्यालय एवं गायत्री विद्यापीठ में 75वाँ स्वतंत्रता दिवस उत्साह पूर्वक मनाया गया। शांतिकुंज में गायत्री परिवार प्रमुख एवं  देव संस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति  श्रद्धेय डॉक्टर प्रणव पंड्या जी तथा संस्था की अधिष्ठात्री.....