Published on 2018-05-27

गायत्री विद्यापीठ शांतिकुंज के छात्र/छात्राओं ने देशभर में देवभूमि का नाम गौरवान्वित किया|

विद्यापीठ की तनूजा ने देशभर में तीसरा व उत्तराखंड में प्रथम स्थान प्राप्त किया है|


सावित्री पट्टैया ने हिन्दी, अंग्रेजी व पेंटिग में १०० अंक तथा इतिहास में ९१ तथा भूगोल में ९४ अंक लेकर विद्यापीठ की द्वितीय टॉपर रही। तनूजा व सावित्री पट्टैया न्यायिक सेवा में अपना भविष्य संवारना चाहती हैं। ममता जोशी ने ९१.४ प्रतिशत तथा श्रेयस ने ९०.८ प्रतिशत प्राप्त किया है।

विद्यापीठ के अभिभावकद्वय डॉ. प्रणव पण्ड्या व शैैलदीदी ने मेधावी बच्चों को अपनी शुभकामनाएँ दी। उन्होंने कहा कि विद्यापीठ विद्यार्थियों के चहुंमुखी विकास के लिए संकल्पित है। यहाँ पढ़ाई के साथ ही उनकी मानसिक व शारीरिक सुदृढ़ता के लिए विविध योगाभ्यास भी कराया जाता है जो मन की एकाग्रता व पढ़ाई की ओर रुचि पैदा करने में सहायक है। मेधावियों को पुरस्कृत भी किया जायेगा।

 गायत्री विद्यापीठ के प्रधानाचार्य श्री सीताराम सिन्हा ने बताया कि आज पूरे राज्य को गायत्री विद्यापीठ ने गौरवान्वित होने का अवसर दिया है। हम सब काफी प्रफुल्लित है कि विद्यापीठ की तनुजा ने देश भर में टॉप तीन में स्थान पाया है। साथ ही उन्हें उत्तराखण्ड का टॉपर होने का सौभाग्य भी मिला है। श्री सिन्हा ने बताया कि इस वर्ष गायत्री विद्यापीठ की सफलता प्रतिशत ९७.६ है। विद्यापीठ के चार बच्चों ने ९० से ऊपर सहित २१ विद्यार्थियों ने ८० प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त किया है। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष भी गायत्री विद्यापीठ की छात्रा दिव्या यादव ने उत्तराखण्ड में प्रथम स्थान प्राप्त की थी।


Write Your Comments Here:


img

गुरु पूर्णिमा पर्व प्रयाज

गुरु पूर्णिमा पर्व पर online वेब स्वाध्याय के  कार्यक्रम इस प्रकार रहेंगे समस्त कार्यक्रम freeconferencecall  मोबाइल app से होंगे ID : webwsadhyay रहेगा 1 गुरुवार  ७ जुलाई २०२२ : कर्मकांड भास्कर से गुरु पूर्णिमा.....

img

ऑनलाइन योग सप्ताह आयोजन द्वादश योग :गायत्री योग

परम पूज्य गुरुदेव द्वारा लिखित पुस्तक  गायत्री योग, जिसके अंतर्गत द्वादश योग की चर्चा की गई है, का ऑनलाइन वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से पांच दिवसीय कार्यक्रम आयोजित किया गया| इस कार्यक्रम में विशेष आकर्षण वीडियो कांफ्रेंस.....

img

गृह मंत्री अमित शाह बोले- वर्तमान एजुकेशन सिस्टम हमें बौद्धिक विकास दे सकता है, पर आध्यात्मिक शांति नहीं दे सकता

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि हम उन गतिविधियों का समर्थन करते हैं जो हमारे देश की संस्कृति और सनातन धर्म को प्रोत्साहित करती हैं। पिछले 50 वर्षों की अवधि में, हम हम सुधारेंगे तो युग बदलेगा वाक्य.....