गायत्री विद्यापीठ शांतिकुंज- १०वी कक्षा का रिजल्ट ९८.६ प्रतिशत रहा

Published on 2018-05-30

गायत्री विद्यापीठ शांतिकुंज- १०वी कक्षा का रिजल्ट ९८.६ प्रतिशत रहा

विद्यापीठ के अभिभावकद्वय ने मेधावियों को दिया आशीष

हरिद्वार २९ मई।

गायत्री विद्यापीठ शांतिकुंज के निहीर वार्ष्णेय ९३ प्रतिशत के साथ विद्यापीठ टॉपर बने। तो वहीं मयंक रावत को ९१.४ प्रतिशत के साथ द्वितीय टॉपर रहे। इस वर्ष गायत्री विद्यापीठ का रिजल्ट ९८.६ प्रतिशत रहा।

विद्यापीठ के ९ बच्चों ने ८० प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त कर एक बार पुनः विद्यापीठ का नाम रोशन किया है। इन मेधावियों को विद्यापीठ के अभिभावकद्वय डॉ. प्रणव पण्ड्या एवं शैलदीदी ने अपना आशीष देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की मंगल कामना की। डॉ. पण्ड्या ने कहा कि विद्यापीठ विद्यार्थियों को निखारने के लिए विविध गतिविधियों का संचालन करता रहा है।

               गायत्री विद्यापीठ के प्रधानाचार्य श्री सीताराम सिन्हा ने बताया कि इस वर्ष विद्यापीठ का रिजल्ट ९८.६ प्रतिशत रहा। उन्होंने बताया कि निहीर वार्ष्णेय ने ९३ प्रतिशत, मयंक रावत ने ९१.४ प्रतिशत, प्राची गुप्ता ९० प्रतिशत के अलावा विकास सेमवाल, भृगु पटेल, ओम अग्रवाल, ब्राह्मी कश्यप, अक्षय, प्रसन्न कुमार एवं अरविन्द सिंहारपुरिया ने ८० से अधिक प्रतिशत अंक प्राप्त कर विद्यापीठ का नाम रोशन किया है।


Write Your Comments Here:


img

देसंविवि में हुई राज्य के शिक्षाविदों की शैक्षिक उन्नयन विचार संगोष्ठी

शिक्षा के स्तर को ऊँचा उठाने हेतु करें उपाय ः धनसिंह रावतसंस्कारित व्यक्ति से ही समाज व राष्ट्र उठता है ऊँचा ः डॉ. चिन्मय पण्ड्याराज्य के विवि के कुलपतियों व समस्त कॉलेजों के प्रधानाचार्य हुए सम्मिलितहरिद्वार १७ जून।राज्य के समस्त.....

img

राजस्थान राज्य के ग्रामीण रोवर रेंजर्स ने सीखे व्यक्तित्व विकास के गुर

हरिद्वार १४ जून।भारत स्काउट गाइड के रोवर-रेंजर्स विंग के सौ वर्ष पूरे होने पर राजस्थान राज्य के सत्तर से अधिक ग्रामीण रोवर-रेंजर्स अपने हाइकिंग के अंतर्गत गायत्री तीर्थ शांतिकुंज पहुँचे। यहाँ उन्होंने व्यक्तित्व विकास के साथ स्काउटिंग के विभिन्न पहलुओं.....

img

शांतिकुंज में बनी छ.ग, म.प्र व ओडिशा के वनवासी क्षेत्रों के विकास की कार्ययोजना

गायत्री परिवार का मूल उद्देश्य है आत्मीयता विस्तार: डॉ. पण्ड्याजीहरिद्वार ११ जून।अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने कहा कि गायत्री परिवार का मूल उद्देश्य आत्मीयता का विस्तार करना है। भगवान् राम ने रीछ वानरों के साथ, श्रीकृष्ण.....